August 25, 2020

62% माता-पिता स्कूल खुलने पर भी बच्चों को स्कूल भेजने को राजी नही

अनलॉक-4 की तैयारी के बीच हुए सर्वे की रिपार्ट

दिल्ली: भारत में कोरोना संक्रमण तेजी से पैर पसार रहा है, हर रोज 70 हजार से ज्यादा नए संक्रमित मामले सामने आ रहे है, इसी बीच सरकार की ओर से अनलॉक-4 की तैयारी चल रही है। एक सितंबर से स्कूल खोले जाने की चर्चा भी है. लेकिन इसके बावजूद भी लोग अब भी ना तो अपने बच्चों को स्कूल भेजने को तैयार है तो किसी सिनेमाघर में पिक्चर देखने से भी डर रहे है.

एक सर्वे में कुछ इसी तरह की बातें सामने आई है। सर्वे के मुताबिक एक सितंबर से स्कूल खुलने पर 62 फीसदी अभिभावक अपने बच्चों को स्कूल नही भेजना चाहते। आधे लोग मेट्रो-ट्रेन में सफर से बचना चाह रहे है तो तीन चौथाई सिनेमाघरों में फ़िल्म ना देखने की बात कह रहे है।

ऑनलाइन सर्वे में 64 फीसदी पुरुष और 36 फीसदी महिलाएं शामिल हुई। इनमें 47 फीसदी सोद टीयर वन(उच्च वर्ग), 36 फीसदी टीयर टू (मध्यम वर्ग), ओर 15 फीसदी ग्रामीण इलाकों से जुड़े लोग है। गौरतलब है कि भारत मे कोरोना संक्रमितों की संख्या 31.32 लाख तक पहुँच गई है। आम जनता कोरोना को लेकर इस कदर डरे हुए है कि वे किसी भी तरह का जोखिम नही लेना चाहते, इसलिए वह स्कूल खोलने ओर बच्चों को भेजने से साफ इनकार कर रहे है।

स्कूल-कॉलेज खोलने पर चल रहा विचार

सरकार जल्द ही विभिन्न शहरों में मेट्रो-ट्रैन चलाने की इजाजत दे सकती है। कुछ मंत्रालयों ओर विशेषज्ञों ने क्रमिक रूप से स्कूल-कॉलेज खोलने की सलाह भी दी है. सूत्रों की माने तो अनलॉक के अगले चरण के दिशा-निर्देश अगले एक-दो दिन में जारी हो जाएंगे, जो 1 सितंबर से पूरे देश मे लागू होंगे.

स्कूल-कॉलेज पर लेना है फैसला

पिछली अनलॉक गाइडलाइन में कहा गया था कि अगस्त के अंत तक स्कूल-कॉलेज को बंद रहेंगे। संभव है कि पहले कॉलेज को स्वैच्छिक रूप से खोलने की इजाजत मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Post