हारेगा कोरोना! 104 साल के “बाबाजी” ने जीती कोरोना की जंग, मुख्यमंत्री ने दी शुभकामनाएं

बैतूल। जिले के निवासी स्वतंत्रता संग्राम सेनानी बिरदी चंद गोठी की उम्र 104 साल है. बिरदी चंद गोठी ने जिस तरह देश को आजाद कराने के लिए स्वतंत्रता आंदोलन में योगदान दिया और देश को अंग्रेजो से स्वतंत्र कराया. वैसे ही इस उम्र में उन्होंने कोरोना से लड़ाई लड़कर इस भयानक जंग को जीता है. कोरोना को मात देने पर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर उन्हें शुभकामनाएं दीं. उन्होंने लिखा कि यह संयम और संकल्पित प्रयास का सुपरिणाम है, मुझे विश्वास है आप से प्रेरणा लेकर covid-19 के संक्रमित मरीज अपना टेस्ट एवं उचित उपचार करवाएंगे और स्वस्थ होंगे. आदरणीय बिदरी चंद गोठी जी, आप सदैव स्वस्थ और आनंदित रहे, शुभकामनाएं.

कोरोना से संक्रमित हो गए थे बिरदी चंद गोठी

दरअसल, बिरदी चंद गोठी के आसपास के कुछ लोग कोरोना संक्रमण से संक्रमित हो गए थे. उनके कारण वे भी संक्रमित हो गए. इस उम्र में जहां लोग कोराना को शरीर में झेल नहीं पा रहे थे. ऐसे में परिवार के लोग चिंतित हो गए कि अब क्या होगा. “बाबाजी” के नाम से प्रसिद्ध बिरदी चंद गोठी के विल पावर और उनकी हिम्मत ने कोरोना को भी मात दे दी.

होम आइसोलेशन में हुआ इलाज

डॉक्टरों की सलाह पर उनका इलाज घर पर हुआ और समय समय पर उन्हें दवाइयां दीं और ऑक्सीजन दी गई. डॉक्टर भी उनकी हालत पर नजर रखे हुए थे. परिवार के लोग और उनके केयर टेकर उनकी दिन रात सेवा में लगे रहे ओर इसी का परिणाम है कि बस बाबाजी 10 दिन में ही ठीक हो गए.

कोरोना को लेकर देश मे जिस तरह हड़कंप मचा है. अस्पतालों में जगह नहीं है. आक्सीजन का टोटा बना हुआ है. ऐसे में एक राहत की खबर ये है कि मध्य प्रदेश के बैतूल में एक 104 साल के बुजुर्ग ने कोरोना को मात दी है और अब स्वस्थ्य है.