June 23, 2020

सतना के नागौद थाना अंतर्गत तोड़ी गई संविधान निर्माता की प्रतिमा, भीम आर्मी ने दी यह चेतावनी.

0 0
Read Time:5 Minute, 22 Second

सतना: नागौद थाना अंतर्गत संविधान निर्माता बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा को 21 जून की रात को तोड़ा दिया गया। इस विषय पर गांव के पटवारी, सरपंच, तहसीलदार आदि सब चुप रहे। भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं द्वारा नई मूर्ति लगाने की मांग की गई लेकिन जिम्मेदार प्रशासनिक अधिकारी उनकी बात को नजरअंदाज करते नजर आ रहे है।

भीम आर्मी ने दिया 24 घण्टे का अल्टीमेटम
भीम आर्मी द्वारा बाबा साहब की प्रतिमा लगवाने के लिए कलेक्टर, एसडीएम, एसपी को अल्टीमेटम जारी किया था की अगर आने वाले 24 घण्टे के अंदर नई मूर्ति नही लगाई गई तो उग्र आंदोलन किया जाएगा।
जब प्रशासन ने भीम आर्मी की मांगे नही मांगी तो कार्यकर्ताओ द्वारा हाइवे जाम किया गया तो पुलिस द्वारा महिला कार्यकर्ताओ पर जातिसूचक शब्दो का उपयोग कर, मारपीट की गई व भीम आर्मी के 24 कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया।

प्रतिमा लगवाने की बात पर जवाब मिला पैसे नही है.
भीम आर्मी जिलाध्यक्ष सिद्धार्थ नालंदा ने जब प्रशासन से नई मूर्ति लगवाने की बात कही गई तो उन्हें जवाब मिला कि हमारे पास नई प्रतिमा लगवाने के पैसे नही है। आखिर क्यो इस देश हमारे संविधान निर्माता की ही मूर्ति तोड़ी जाती है, इसका जवाब आज तक ना तो किसी राजनीतिक पार्टी ने दिया और ना ही किसी प्रशासनिक अधिकारी ने।

भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं को जान से मारने की धमकी भी दी गई।

भीम आर्मी प्रदेश प्रभारी ने बताया की रीवा आईजी द्वारा उनके ट्वीट पर संज्ञान लेते हुए चर्चा में बताया की 24 में से 20 लोगो को रिहा कर दिया गया है वही 4 लोगो पर नामजद एफआईआर दर्ज की गई है। प्रतिमा लगाने की बात पर भी आईजी पूर्ण रूप से सहमत है और शीघ्र प्रतिमा लगाने का आश्वासन रीवा आईजी ने दिया है अगर अब प्रतिमा लगाने में किसी तरह की ढील बरती जाती है तो में खुद सतना जाऊंगा और प्रदेश स्तरीय आंदोलन भीम आर्मी करेंगी।

सुनील अस्तेय(भीम आर्मी प्रदेश प्रभारी, म.प्र)


About Post Author

विजय बागड़ी

Indian Journalist, Editor-in-chief of thetelegram.in
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *