October 7, 2020

बलिदानी धीरेंद्र त्रिपाठी को अंतिम विदाई देने पहुँचे मुख्यमंत्री, परिवार को 1 करोड़ की सहायता निधि देने की घोषणा

सतना। जम्मू-कश्मीर में हुए आतंकी हमले में बलिदान देने वाले शहीद जवान धीरेंद्र त्रिपाठी को अंतिम विदाई देने बड़ी संख्या में जनसैलाब उमड़ पड़ा. अंतिम विदाई देने आए सभी लोग भारत माता की जय, धीरेंद्र अमर रहे के जयकारे लगाते रहे. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी बलिदानी धीरेंद्र को श्रद्धांजलि देने उनके पैतृक गांव पड़िया पहुंचे. सीएम ने धीरेंद्र के परिवार को एक करोड़ रुपए की सम्मान निधि और इसके साथ ही शहीद की पत्नी को सरकारी नौकरी, गांव में शहीद के नाम से स्मारक बनवाने का ऐलान किया. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि परिवार की नियमानुसार हर तरह की मदद की जाएगी. उन्होंने कहा कि पड़िया गांव की माटी आज धन्य हो गई है. जहां ऐसे वीर सपूत जन्म ने जन्म लिया. राजकीय सम्मान के साथ करीब 12 बजे बलिदानी वीर जवान का अंतिम संस्कार किया गया.

बता दें सोमवार को श्रीनगर में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में सीआरपीएफ के दो जवान शहीद हो गए थे. जिनमें एक धीरेंद्र त्रिपाठी एक थे. शहीद धीरेंद्र अपने माता-पिता के इकलौते पुत्र थे. उनके पिता रामकलेश त्रिपाठी भी सीआरपीएफ के जवान है जो कि बालाघाट में पदस्थ हैं.

शहीद के 3 वर्षीय बेटे ने पिता के किये अंतिम दर्शन, किया नमन

मौजूद रहे जनप्रतिनिधि व वरिष्ठ अधिकारी

शहीद धीरेंद्र त्रिपाठी को श्रद्धांजलि देने के लिए प्रदेश के मंत्रीगण, जनप्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक और पुलिस-प्रशासन व सीआरपीएफ के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए. इसमें मंत्री विश्वास सारंग, रामखेलावन पटेल, जनार्दन मिश्रा, राजेन्द्र शुक्ला, विधायक जुगल किशोर बागरी ने भी शहीद को श्रद्धासुमन अर्पित किए। भोपाल से आये सीआरपीएफ के आईजी पीके पांडे ने भी पुष्पांजलि अर्पित की सतना कलेक्टर अजय कटेसरिया, एसपी धर्मवीर सिंह ने भी शहीद को कंधा दिया. इसके साथ ही रीवा से संभागायुक्त, आईजी व रीवा के कलेक्टर, एसपी भी मौजूद रहे.

गार्ड ऑफ ऑनर से दी गई सलामी

तिरंगे में लपटे शहीद जवान के पार्थिव शरीर को लेकर आये सीआरपीएफ जवानों और पुलिस बल ने गार्ड ऑफ ऑनर देकर सलामी दी जिसके बाद उनका अंतिम संस्कार विधि विधान से गांव में किया गया। इसके बाद मुख्यमंत्री भी रीवा के लिए प्रस्थान कर गए।


(यादव साइंस कोचिंग क्लासेस)
📘..आगर-मालवा..📘आज की वर्तमान परिस्थिति और आधुनिक युग की चकाचौंध को देखकर आज की युवा पीढ़ी अपने मार्ग से विचलित हो रही है. अतः यादव साइंस कोचिंग क्लासेस आगर जिले की एकमात्र ऐसी संस्था है जो अपने विद्यार्थियों को उनके शैक्षणिक अध्ययन के साथ-साथ अपने धर्म के प्रति सजग रूप से ज्ञान प्रदान कर रही है क्योंकि धर्म जीवन का सार है, धर्म रहित जीवन का कोई अर्थ नहीं है….📘📘

हमारी विशेषता
(1)अनुभवी एवं योग्य शिक्षकों द्वारा अध्यापन.
(2)कमजोर विद्यार्थियों के लिए 1 घंटे अतिरिक्त कक्षाएं
(3) कक्षा 10वीं एवं 12वीं में 95% से अधिक अंक लाने वाले विद्यार्थियों को ₹25000 की राशि, एवं एक लैपटॉप कोचिंग संस्थान की ओर से दिया जावेगा.
(4) हम आपके बच्चों के सुनहरे भविष्य के लिए शत प्रतिशत परिश्रम करेंगे.


विशेष- “आर्थिक रूप से असक्षम बच्चों को यादव साइंस कोचिंग क्लासेस निशुल्क शिक्षा प्रदान करेंगी, और यदि अत्यधिक आर्थिक स्थिति कमजोर है, तो उन विद्यार्थियों के लिए ड्रेस, कॉपी, किताबें आदि संस्था की ओर से निशुल्क प्रदान की जाएगी”📘📗
कक्षा 8वीं से 12वीं तक (कक्षा 8वीं से 10वीं ):- संपूर्ण विषय एवं कक्षा 11वीं, 12वीं (आर्ट संपूर्ण विषय)
स्थान – राधा कृष्णा सत्संग भवन छावनी आगर – मालवा

डायरेक्टर:- धर्मेंद्र यादव
संपर्क:- 9399029720
SPONSORED

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Post