October 17, 2020

एक रुपये के सिक्के से आप बन सकते है लखपति! जानें क्या है इसका राज

…..पुराने सिक्कों को बेचने के लिए आपको इंडियामार्ट की वेबसाइट indiamart.com पर जाना होगा…..


कोरोना काल में कड़ी मेहनत के बाद भी एक आम आदमी के लिए अपना घर खर्च चलाना काफी मुश्किल हो रहा है. ऐसे में कोई लखपति बनने की बात कहे तो एक बारगी उसकी बात मजाक लगेगी. क्योंकि लखपति बनने के लिए कड़ी मेहनत, पुख्ता प्लानिंग और लंबे समय की जरूरत होती है.

इसके बाद भी अगर हम कहें कि आप महज एक सिक्के की बदौलत 25 लाख रुपये की कमाई कर सकते हैं तो यकीन मानिए कि यह कोई मजाक या सपना नहीं बल्कि हकीकत है.

अगर आप 25 लाख रुपये कमाना चाहते हैं तो आपके पास अच्छा मौका है. इसके लिए आपके पास सिर्फ एक रुपये का पुराना सिक्का होना चाहिए. यह सिक्का कोई साधारण सिक्का नहीं बल्कि 100 साल पुराना होना चाहिए.

दरअसल, भारत के एक बड़े ऑनलाइन बाजार इंडियामार्ट पर पुराने और एंटीक सिक्कों की नीलामी होती है. अगर आपके पास कोई बहुत पुराना और दुर्लभ सिक्का है तो आप इस नीलामी में भाग ले सकते हैं ओर यहां आप अपने सिक्कों को लाखों रुपये में बेच सकते हैं.

100 साल पुराने सिक्के की कीमत 25 लाख रुपये

अगर आपके पास साल 1913 में बना ‘एक रुपया’ का सिक्का है तो आप इसे बेचकर 25 लाख रुपए कमा सकते हैं. यहां 1913 में बने ‘एक रुपया’ के सिक्के की कीमत 25 लाख रुपये आंकी गई है. यह चांदी का सिक्का है और इसे विक्टेरियन कैटेगरी में शामिल किया गया है.

ईस्ट-इंडिया का सिक्का

इंडिया मार्ट पर 18वीं शताब्दी के एक सिक्के की कीमत 10 लाख रुपये रखी गई है. साल 1818 में बने ईस्ट इंडिया कंपनी के एक सिक्के की कीमत 10 लाख रुपये आंकी गई है बता दें तांबे के इस सिक्के पर हनुमानजी की तस्वीर अंकित है.

ऐसे बेच सकते है अपने सिक्के

पुराने सिक्कों को बेचने के लिए आपको इंडियामार्ट की वेबसाइट indiamart.com पर जाना होगा. इस वेबसाइट पर आपको अपना अकाउंट बनाना होगा. अकाउंट बन जाने के बाद यहां आपको खुद को विक्रेता के तौर पर रजिस्टर्ड करना होगा. रजिस्ट्रेशन के बाद अब आप अपने सिक्कों की तस्वीर उस पर अपलोड कर दें और इसे बिक्री के लिए डाल दें.

एंटीक चीजों के शौकीन लोगों को इस तरह के सिक्कों की जरूरत रहती है और कभी-कभी तो कुछ शौकीन लोग एंटीक चीजों को मुंह मांगी कीमत पर खरीद लेते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *