November 25, 2020

विधायक विपिन वानखेड़े के समर्थन में एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने प्रदेश कांग्रेस कार्यालय के बाहर फूंका शिवराज सरकार का पुतला

आगर विधायक विपिन वानखेड़े सहित 9 नामजद व अन्य 40 लोगो के खिलाफ बडौद थाना प्रभारी जतन सिंह मंडलोई ने मामला दर्ज करवाया है जिसके बाद प्रदेश की सियासत गरमाने लगी है. इसी को लेकर आज प्रदेश कांग्रेस कार्यालय के बाहर एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने जमकर प्रदर्शन करते हुए शिवराज सरकार का पुतला फूंका और शिवराज को किसान विरोधी सरकार बताया.

एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं का कहना है कि विपिन वानखेड़े एक जन कल्याणकारी नेता है और वह हमेशा किसानों के हित में काम करते हैं लेकिन शिवराज सरकार और आगर जिले में बैठे कुछ लोग उन्हें काम करने से रोकना चाहते हैं लेकिन जब विपिन वानखेड़े बिना डरे किसानों की लड़ाई लड़ रहे हैं तो भाजपा सरकार उन पर झूठे मुकदमे दर्ज करवाकर उन्हें दबाने का प्रयास कर रही है.

इतना ही नहीं इस मामले को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ भी अपनी प्रतिक्रिया दे चुके हैं. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा था कि, प्रदेश में भाजपा की सरकार आते ही आमजन, किसानो पर भारी भरकम बिजली बिलों की मार डाली जा रही है। हमारे ब्लॉक अध्यक्ष व आगर विधायक द्वारा किसानो की इस परेशानी को उठाने पर उन पर झूठे प्रकरण दर्ज किये जा रहे है, पुलिस प्रशासन द्वारा उन्हें धमकाया जा रहा है, जनप्रतिनिधियो से अपराधी की तरह व्यवहार किया जा रहा है। भाजपा सरकार के इस दमनकारी रवैये पर कांग्रेस चुप नहीं बैठेगी, वह जनता की, किसानो की लड़ाई को लड़ती रहेगी। सरकार झूठे मुक़दमे वापस ले, इस मामले में दोषी अधिकारियों पर कार्यवाही करे अन्यथा कांग्रेस भाजपा सरकार की दमनकारी व तानाशाही पूर्ण नीति का सड़कों पर उतरकर पुरज़ोर विरोध करेगी।

बता दें कांग्रेस विधायक विपिन वानखेड़े के खिलाफ बडौद टीआई ने एफआईआर दर्ज करवाई है. जानकारी के अनुसार बड़ौद टीआई जतन सिंह मंडलोई ने विधायक वानखेड़े सहित 8 नामजद व करीब 40 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है. मंगलवार को विधायक ने बड़ौद थाने पर समर्थकों के साथ जाकर हंगामा किया था, जिसके बाद उन पर शासकीय कार्य में बाधा सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज हुआ है.

दरअसल बीते दिनों बिजली बिल वसूली के दौरान बिल जमा नहीं करने पर बिजली विभाग के अधिकारी किसानों की जलमोटर जब्त कर ले जा रहे थे. उसी दौरान ब्लॉक कांग्रेस बड़ौद प्रेमसिंह तंवर और बिजली विभाग के अधिकारियों के बीच विवाद हो गया. तब बिजली विभाग के अधिकारियों की रिपोर्ट पर प्रेमसिंह तंवर के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा डालने को लेकर प्रकरण दर्ज हुआ था. इसी मामले को लेकर विधायक विपिन वानखेड़े दर्जनों कार्यकर्ताओं के साथ बड़ौद थाने पर पहुंचे थे, तभी विधायक वानखेड़े और थाना प्रभारी के बीच तीखी नोकझोंक हो गई थी. जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *