क्या भारत रत्न “सरदार पटेल” से बड़े हो गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी?

आपके दम्भ और अहंकार की कोई तो सीमा होगी मोदी जी?शर्म कीजिए

विजय बागड़ी✍️

अहमदाबाद का मोटेरा स्टेडियम अब नरेंद्र मोदी स्टेडियम के नाम से जाना जाएगा. मोटेरा स्टेडियम के नाम से मशहूर इस स्टेडियम को हाल ही में बनाया गया है और यह दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम है, जिसमें दर्शकों की क्षमता 1,10,000 है और अब यह स्टेडियम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम से जाना जाएगा.. इसे लेकर कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है..

कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा, ‘मोटेरा स्टेडियम से सरदार पटेल का नाम हटा कर नरेंद्र मोदी रखना आजादी के महानायक का घोर अपमान है. आपके दम्भ और अहंकार की कोई तो सीमा होगी मोदी जी? शर्म कीजिए’


गुजरात कांग्रेस के वर्किंग प्रेसिडेंट हार्दिक पटेल ने कहा, ‘दुनिया के सबसे बड़े अहमदाबाद स्थित सरदार पटेल क्रिकेट स्टेडियम का नाम बदलकर नरेंद्र मोदी क्रिकेट स्टेडियम रखा गया है, क्या यह सरदार पटेल का अपमान नहीं हैं ? सरदार पटेल के नाम पर वोट माँगने वाली भाजपा अब सरदार साहब का अपमान कर रही हैं. गुजरात की जनता सरदार पटेल का अपमान नहीं सहेगी. भारत रत्न, लौह पुरुष सरदार पटेल ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर प्रतिबंध लगाया था और उसी कारण आरएसएस के चेले सरदार पटेल का नाम मिटाने का हर संभव प्रयास कर हैं. बाहर से मित्रता पर भीतर से बैर, यह व्यवहार भाजपा का सरदार पटेल से हैं. एक बात याद रखिएगा की सरदार पटेल का अपमान नहीं सहेगा हिंदुस्तान’….


मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा,’जो लोग बड़े काम करते हैं, दुनिया उन्हें याद करकर उनके नाम पर ख़ुद धरोहरों का नामकरण करती है लेकिन जो लोग सिर्फ जुमले उछालते हैं, वह अपने जीते जी अपने नाम पर धरोहरों का नामकरण करने में लगे रहते हैं? अहमदाबाद के “सरदार वल्लभ भाई पटेल स्टेडियम “ का नाम अब “नरेंद्र मोदी स्टेड़ियम“ होगा?
यह तो लौहपुरुष का अपमान है.