August 14, 2020

धार्मिक त्योहारों के बाद अब आजादी के जश्न पर कोरोना का साया, फ़िके रहेंगे आयोजन, सार्वजनिक कार्यक्रम हुए निरस्त

कोरोना महामारी के चलते आगर में इस बार स्वतंत्रता दिवस पर होने वाले सार्वजनिक कार्यक्रमों में आम लोगों की एंट्री नहीं होगी, भीड़ कम करने के लिए सभी सार्वजनिक कार्यक्रमों को निरस्त किया गया है, जिसके चलते हर साल आजादी के जश्न में सहभागी बनने वाले इस बार शामिल नहीं हो पाएंगे.

आगर-मालवा। कोरोना महामारी का ग्रहण धार्मिक त्योहारों के साथ-साथ अब राष्ट्रीय पर्व पर भी छाने लगा है, पिछले 72 सालों से देश के करोड़ों लोग आजादी का जश्न उत्साह, उल्लास और धूमधाम से मनाते आ रहे हैं, लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए स्वतंत्रता दिवस पर आयोजित होने वाले ज्यादातर आयोजन रद्द कर दिए गए हैं, जिससे इस बार आजादी का पर्व काफी हद तक फीका नजर आएगा.

जिस आजादी के लिए देश के लाखों लोगों ने अपने प्राणों का बलिदान दिया, उसी आजादी के जश्न को मनाना इस वर्ष मुश्किल होगा, ऐसा कभी किसी ने सोचा भी नही होगा. कोरोना महामारी के चलते आगर में 15 अगस्त पर होने वाले सभी सार्वजनिक कार्यक्रमों में आम लोगों की भीड़ को कम करने के लिए सभी सार्वजनिक कार्यक्रमों को निरस्त कर दिया गया है. आजादी के महत्व को समझाने के लिए जिन स्कूली बच्चों से जय हिंद के नारे लगवाए जाते थे, वे बच्चे इस बार आजादी के जश्न से दूर रहेंगे. शैक्षणिक संस्थाओं के बंद होने से सांस्कृतिक कार्यक्रमों में उमड़ने वाली विद्यार्थियों की भीड़ पहले की तरह आयोजन स्थलों पर भी इस वर्ष दिखाई नहीं देगी.

SPONSORED

जिले से लेकर गांव तक आयोजित होने वाले प्रमुख ध्वजारोहण कार्यक्रम और सांस्कृतिक आयोजनों पर भी कोरोना का साया मंडरा रहा है, जिसके चलते सरकारी और निजी स्थानों पर होने वाले आयोजनों को सीमित और निरस्त किया जा रहा है. सरकारी आदेश के अनुसार सार्वजनिक स्थल पर होने वाले बड़े आयोजनों नहीं होंगे. आगर में हर साल आजादी का जश्न प्रभारी मंत्री की मौजूदगी में आयोजित होता था. आगर में थाना ग्राउंड के पीछे मैदान में भारतीयों की आन-बान और शान के प्रतीक तिरंगे को पूरे प्रोटोकॉल के साथ फहराया जाता था. इस दौरान पुलिस का मार्च फास्ट, हर्ष फायर, एनसीसी कैडेट्स की सलामी, विभागों की झाकियां और बच्चों के रंगारंग कार्यक्रम भी होते थे.

वेबसाइट पर विज्ञापन लगवाने के लिए सम्पर्क करें: 7049469012

इस बार कोरोना का भारी प्रकोप जारी है, इसलिए इन सभी आयोजनों पर खतरा मंडरा रहा है. जिसके चलते ये कार्यक्रम निरस्त किए गए हैं. इस बार आजादी के जश्न में विद्यार्थी, गणमान्य नागरिक, जनप्रतिनिधि शामिल नहीं हो पाएंगे. आजादी के जश्न में सहभागी बनने वाले इस बार कोरोना संकट के चलते आजादी के जश्न में शामिल नहीं हो पाएंगे. सरकारी आदेशों के अनुसार संस्था प्रमुख अपनी संस्थाओं पर तिरंगा फहराएंगे. इस दौरान सरकारी कार्यालयों पर हर साल की तरह आकर्षक विद्युत साजो-सज्जा की जाएगी. मगर संस्थाओं में किसी भी प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रमों पर प्रतिबंध रहेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *