हम नही सुधरेंगे! कोरोना को रोकने के लिए चल रहा था भंडारा, पुलिस रोकने गई तो दौड़ा-दौड़ाकर पीटा

शिवपुरी। अमोला थाना क्षेत्र के ग्राम राजगढ़ में चल रहे भंडारे को रोकने गई पुलिस टीम पर ग्रामीणों ने हमला कर दिया. इस दौरान ग्रामीणों ने पुलिस पर भगा-भगा कर लाठी व पत्थर बरसाए. टीआई राघवेंद्र सिंह यादव ने बताया कि दोपहर करीब दो बजे उन्हें जानकारी मिली कि ग्राम राजगढ़ में तालाब के पास बने माता के मंदिर पर कोरोना को रोकने के लिए भंडारा चल रहा है. यहां करीब 400 से 500 महिला-पुरुष एकत्रित हैं. सूचना पर सिरसौद, अमोलपठा सहित अमोला पुलिस टीम मौके पर पहुंची.

कुछ असामाजिक लोगों के उकसाने के बाद पुलिस पर बोला हमला

पुलिस ने यहां पहले ग्रामीणों को कोरोना संक्रमण के खतरे के बारे में समझाया और अपने घर जाने को कहा. समझाइश पर ग्रामीण जब अपने घर जाने लगे तभी ग्रामीण राजेश पुत्र जगराम बघेल, कल्लन पुत्र रामलखन विश्वकर्मा, नरेंद्र पुत्र कल्लू वंशकार, मदन परिहार, बालू पुत्र कन्हैया ने आदिवासी भीड़ को उकसा दिया. इसके बाद भीड़ ने पुलिस टीम को दोनों तरफ से घेर लिया और गाली-गलौज करते हुए पुलिस पर लाठी व पत्थरों से हमला कर दिया.

घटना में करीब एक दर्जन पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं. पुलिसकर्मियों ने जैसे-तैसे अपनी जान बचाई और भाग कर थाने आएं. मामले में पुलिस ने पांच नामजद लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

You may have missed

error: Do not copy content thank you