June 28, 2020

कार्यकर्ताओं को पत्ते खेलते पकड़ें जाने पर पुलिस से में छुड़वाता था: कैलाश विजयवर्गीय

कैलाश विजयवर्गीय का एक बयान काफी तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.विजयवर्गीय ने यह बयान मंदसौर जिले के सीतामऊ में दिया है, जिसमें वह यह कहते नजर आ रहे हैं कि जब भाजपा कार्यकर्ताओं को पत्ते खेलते वक्त पुलिस उठाकर ले जाती थी. तो वह दो-दो बजे रात तक पुलिस को फोन कर उन्हें छुड़ाने का काम करते थे.

मंदसौर.

अपने बयानों से हमेशा सुर्खियों में रहने वाले भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय ने एक बार फिर ऐसा बयान दिया जिससे विपक्ष ने उन्हे निशाने पर ले लिया.
मंदसौर जिले के सीतामऊ में बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए विजयवर्गीय ने कहा कि बीजेपी कार्यकर्ता दो-दो बजे रात तक पत्ते खेलते थे और पुलिस उन्हें पकड़ कर ले जाती थी. लेकिन में उन्हें पुलिस से छुड़ा लेता था. उनका यह बयान तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

कैलाश विजयवर्गीय सुवासरा विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव के मद्देनजर भाजपा कार्यकर्ताओं की बैठक ले रहे थे. तभी उनका कार्यकर्ताओं के प्रति प्रेम जाग गया. उन्होंने कहा कि अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं के लिए सबकुछ करना पड़ता है. अगर कार्यकर्ताओं को पत्ते खेलते हुए पुलिस पकड़ लेती थी. तो में उन्हें छुड़ाता था चाहे वह कोलकाता में हो या कही और लेकिन पुलिस को फोन कर सभी कार्यकर्ताओं को छुड़ाता था. विजयवर्गीय ने कहा कि वे थाने के अधिकारियों से कहते हैं कि देख लेना पार्टी का कार्यकर्ता है. क्या करे कार्यकर्ता है बचाने के लिए करना पड़ता है.

कांग्रेस ने लिया निशाने पर.

कैलाश विजयवर्गीय का यह बयान जैसे ही सोशल मीडिया पर वायरल हुआ, कांग्रेस ने भी लगे हाथ निशाना साधा. कांग्रेस नेता नरेंद्र सलूजा ने ट्वीट करते हुए लिखा सीतामऊ में कार्यकर्ताओं का होसला बढ़ाने के दौरान विजयवर्गीय ने खुले मंच से यह खुलासा कर दिया कि वे अपने कार्यकर्ताओं को किस तरह बचाते हैं. उन्होंने खुद ही सच्चाई बया कर दी है.

https://twitter.com/NarendraSaluja/status/1276780015749697537?s=19

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Post