September 23, 2020

अचानक खाते में आए 10 करोड़ रुपये, बैलेंस चेक कराते ही हैरान रह गई युवती

एक अंदाजा लगाइये की यदि आपके बैंक खाते में लाख-दो लाख नहीं, पूरे 10 करोड़ रुपये अचानक आ जाएं तो आपकी मानसिक स्थिति क्या होगी? मन में कैसे-कैसे ख्याल आएंगे? यदि यह रकम ‘कौन बनेगा करोड़पति’ जैसा क्वीज शो खेलकर जीता है तब तो आप उसे खर्च करने की प्लानिंग करेंगे लेकिन रकम घर बैठे आई हो तो डरना व दहशत में आना स्वभाविक है. ऐसा ही हुआ है बलिया जिले के रूकूनपुरा गांव की रहने वाली युवती सरोज के साथ.

बांसडीह। इलाहाबाद बैंक की बांसडीह शाखा में उसके खाते में 9 करोड़ 99 लाख रुपये रखे होने की जानकारी मिली तो तो उसके व परिजनों के पैरों तले की जमीन खिसक गयी. परिवार हैरानी के साथ ही दहशत से भर गया। मां के साथ बैंक पहुंची युवती को रुपये आने की पुष्टि हुई तो बैंक व थाने में इस बात की जानकारी देकर मामले की जांच कर कार्यवाही की मांग की. इसे साइबर जालसाजों की करतूत मानते हुए पुलिस पड़ताल में जुट गई है.

कोड़र क्षेत्र के रूकूनपुरा गांव की सूबेदार साहनी की बेटी सरोज का इलाहाबाद बैंक की बांसडीह शाखा में खाता है. सोमवार को वह बैंक में पहुंची और खाते में जमा रकम की जानकारी ली तो बताया गया कि 9 करोड़ 99 लाख चार हजार 736 रुपये है. कर्मचारियों ने बताया कि खाते के लेन-देन पर रोक लगा दि गई है. खाते में लगभग दस करोड़ रुपये की बात सुनते ही किशोरी के होश उड़ गये. पुलिस को दी गई जानकारी में सरोज ने बताया कि वर्ष 2018 से ही इस बैंक में उसका खाता संचालित है. दो वर्ष पहले ही कानपुर देहात जनपद के ग्राम पाकरा, पोस्ट बाधीर से निलेश नाम के व्यक्ति ने सरोज को फोन कर पीएम आवास दिलाने के नाम पर आधार कार्ड व फोटो आदि मांगा था. सरोज ने आधार की फोटोकॉपी व अन्य कागजात उसके बताए हुए पते पर भेज दिए। बाद में सरोज के नाम से डाक द्वारा एटीएम आया. उसे भी कानपुर के निलेश ने मांगा तो सरोज ने पते पर रजिस्ट्री कर दी. सरोज ने एटीएम का पिन भी बता दिया.

बैंक कर्मचारियों के अनुसार बैंक के खाते से कई बार रुपये का लेन-देन किया गया है. सरोज ने बताया कि उसे कुछ मालूम नहीं है कि रुपये कहां से आए है और इससे हमारा कोई मतलब नहीं है. सरोज ने तहरीर में अपना बैंक खाता नम्बर व अन्य डिटेल बैंक व पुलिस को देकर जांच कर कार्रवाही की मांग की है. सरोज ने बताया कि निलेश कुमार के जिस मोबाइल नम्बर से बातचीत हो रही था, वह अब बंद बता रहा है. राजेश कुमार सिंह, प्रभारी निरीक्षक बांसडीह ने बताया कि खाते में 9 करोड़ 99 लाख रुपये आने की पूरी जांच पुलिस के सहयोग से बैंक करेगा. दोषियों पर कार्रवाही सुनिश्चित करायी जाएगी.

बैंक कर्मचारियों के अनुसार बैंक के खाते से कई बार रुपये का लेन-देन किया गया है. सरोज ने बताया कि उसे कुछ मालूम नहीं है कि रुपये कहां से आए है और इससे हमारा कोई मतलब नहीं है. सरोज ने तहरीर में अपना बैंक खाता नम्बर व अन्य डिटेल बैंक व पुलिस को देकर जांच कर कार्रवाही की मांग की है. सरोज ने बताया कि निलेश कुमार के जिस मोबाइल नम्बर से बातचीत हो रही था, वह अब बंद बता रहा है. राजेश कुमार सिंह, प्रभारी निरीक्षक बांसडीह ने बताया कि खाते में 9 करोड़ 99 लाख रुपये आने की पूरी जांच पुलिस के सहयोग से बैंक करेगा. दोषियों पर कार्रवाही सुनिश्चित करायी जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *