November 1, 2020

मारीच, कंस ओर शकुनि का संगम है शिवराज: आचार्य प्रमोद

आगर-मालवा। मध्यप्रदेश की 28 विधानसभा सीटों के उपचुनाव में प्रचार के अंतिम दौर में आगर मालवा विधानसभा के मदकोटा गांव में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, राजस्थान के पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट, आचार्य प्रमोद कृष्णन और सांसद नकुलनाथ एक साथ हुकार भरने आए।

चुनाव आयोग द्वारा कमलनाथ पर आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के चलते स्टार प्रचारक का दर्जा छीने जाने पर आचार्य प्रमोद कृष्णन ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को आड़े हाथो लेते हुए ललकारा और कहा कि 5000 साल पहले जिस तरह हस्तिनापुर की धरती पर द्रोपदी के चीरहरण से कलंक लगा था, ठीक उसी तरह कलयुग में भोपाल की धरती पर लोकतंत्र के ऊपर कलंक लगा है।

प्रमोद कृष्णन ने चुनाव आयोग पर भाजपा के कर्मचारी की तरह काम करने का भी आरोप लगाया औऱ कहा कि बजाओ ताली ऐसे चुनाव आयोग के लिए जो सरकार का कर्मचारी बनता है और तोते की तरह बोल रहा है। शिवराज कमलनाथ के चुनाव से इतना डर गए, कमलनाथ तो हनुमान भक्त है भाई। जो हनुमान जी का भक्त है, उसका चुनाव प्रचार बंद करना चाहते हो। अरे शिवराज जी कमलनाथ जी के प्रचार से इतना भयभीत हो गए, जितना भयभीत हनुमान जी के प्रहार से रावण हो गया था लेकिन भय से ना रावण की जान बची है ना तुम्हारी जान बचेगी। विधाता का लेख है, महाभारत का प्रसंग साक्षी है, द्रोपदी के चीर हरण को दुशासन कर रहा था। दुर्योधन आदेश दे रहा था कि जल्दी द्रोपदी पति को नंगा होता हुआ देखना चाहता हूं लेकिन दुशासन और दुर्योधन की इच्छा पर पानी फेरते हुए साक्षात कृष्ण प्रकट हो गए थे क्योंकि भगवान कृष्ण का उद्घोष है गीता में जब-जब अधर्म बढ़ता है, धोखा फरेब बढ़ता हैं तो सज्जनता की रक्षा के लिए, संतों की रक्षा के लिए, सत्य को बचाने के लिए मैं हर युग में प्रकट होता हूं ओर द्रोपदी की लाज बचाने के लिए भी कृष्ण आए थे।

आचार्य प्रमोद यही नही रुके उन्होंने कांग्रेस छोड़कर भाजपा का दामन थामने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया पर भी जमकर निशाना साधा ओर कहा कि अगर थोड़ी शर्म हो तो 10 तारीख से पहले इस्तीफा दे देना वरना ये होगा कि बड़े बे आबरू हो कर कूचे से हम निकले, ना खुदा मिला ना विसाले सनम, ना इधर के रहे ना उधर के हम। ये मेने मामा(शिवराज) के लिए नही कहा, आप गलत समझ रहे है, ये मेने महल(ज्योतिरादित्य सिंधिया) के लिए कहा है।

राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि मुझे कमलनाथ जी फोन ने करके कहा सचिन जी आप कहां पर है, मेने कहा में जयपुर में हूँ। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में उपचुनाव है आप को यंहा आना है प्रचार करना है। मेने कहाँ कमलनाथ जी आप जहाँ चाहोगे, जहाँ पार्टी चाहेगी वोट मांगने के लिए डंके की चोंट पर आऊंगा और निवेदन करूँगा कि कांग्रेस एक मात्र वो दल है जो सवा सौ साल से मध्यप्रदेश और भारत की भूमि को सींचती आ रही है, अपने खून-पसीने से। में छल कपट में विश्वास नही करता। हमने कोई गलती भी  की होगी तो उसको स्वीकार करने में कहीं कोई संकोच हमको नहीं है। में दावे से कह सकता हूँ कि कांग्रेस की नीति नियत में कोई फर्क नही है।

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने सभा को सम्बोधित करते हुए भारतीय जनता पार्टी पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया और कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सोच है इसको हटा दो, उसको हटा दो। वह सिर्फ सब को हटाने की बात करते हैं। आप फैसला करेंगे 3 तारीख को, वो पैसा देने की बात करेंगे, उनके नेता बिकाऊ हो सकते हैं लेकिन मध्यप्रदेश की जनता मतदाता बिकाऊ नहीं है। यदि वह पैसा दे तो ले लेना क्योंकि यह सब आपका पैसा है पर फैसला भविष्य को सुरक्षित रखने के लिए करना।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Post