जज्बे को सलाम! पत्नी के तीसरे में शामिल होने 130 किलोमीटर सायकल चलाकर इंदौर से आगर पहुंचा पति

आगर-मालवा। पति-पत्नी के प्रेम की कई कहानियां आपने सुनी होगी लेकिन आज हम आपको एक ऐसा किस्सा बताने जा रहे है जिसको पढ़कर आप भी आश्चर्य हो जाएंगे. पति-पत्नी के जिंदा रहते हुए तो उनके बीच आपस में अधिक प्रेम होता ही है लेकिन पत्नी के मरने के बाद एक पति का ऐसा प्रेम सामने आया कि वह अपनी पत्नी के तीसरे में शामिल होने के लिए 130 किलोमीटर साइकिल चलाकर इंदौर से आगर पहुंच गया.

इंदौर के रहने वाले 58 वर्षीय रविप्रसाद माली की पत्नी बबली जी अपने मायके में भाई के पास मिलने आई हुई थी. इसी दौरान उनकी तबीयत बिगड़ी और आगर में ही उनका देहांत हो गया. कोरोना कर्फ्यू का दौर होने के कारण महिला का अंतिम संस्कार आगर में ही कर दिया गया. वही इंदौर में रहने वाले पति रविप्रसाद को इस बात की सूचना दी गई लेकिन आने का कोई साधन नहीं था. वही रवि प्रसाद के घर में भी कोई कार्यक्रम था जिसको निपटा कर वे अगले दिन शाम 5 बजे साइकल से निकले और करीब 14 घंटे की यात्रा कर सुबह 7 बजे अपनी पत्नी के तीसरे की रस्म पूरी करने के लिए आगर पहुंचे.

रवि प्रसाद को इस बात का पता था कि कोरोना कर्फ्यू के चलते रास्ते में खाने-पीने का कोई इंतजाम नहीं होगा इसलिए घर से जो कुछ खाने का हाथ लगा उसे लेकर वह निकल पड़े. रास्ते में घटिया गांव में करीब 1 से डेढ़ घंटे विश्राम करने के बाद वह फिर साइकिल चलाकर आगर पहुंच गए.

You may have missed