रविवार को लॉकडाउन के सम्बंध में आमने-सामने आए कैलाश विजयवर्गीय और कलेक्टर, ये है वजह

रक्षाबंधन से एक दिन पहले रविवार को लगने वाले लॉकडाउन को लेकर कैलाश विजयवर्गीय और कलेक्टर आमने-सामने आ गए हैं. कैलाश विजयवर्गीय ने रविवार को लॉकडाउन में छूट देने के लिए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मांग की है. वहीं कलेक्टर मनीष सिंह ने ऐसी किसी भी संभावना से इंकार कर दिया है.

इंदौर। रक्षाबंधन 3 अगस्त को है और इससे एक दिन पहले रविवार पड़ रहा है. कोरोना वायरस की चेन को तोड़ने के लिए इंदौर में हर सप्ताह के शनिवार और रविवार को टोटल लॉकडाउन रहता है. ऐसे में रविवार को लॉकडाउन करने और नहीं करने को लेकर बीजेपी राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह आमने-सामने आ गए है.

बीजेपी राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से रविवार को इंदौर को अनलॉक करने कि मांग की है. कैलाश विजयवर्गीय का कहना है कि रक्षाबंधन के एक दिन पहले रविवार है और बहने एक दिन पहले ही सारी खरीददारी करती हैं. त्योहार को बहनें अच्छी तरीके से मना सकें इसके लिए इस बार रविवार को लॉकडाउन में छूट देने की मांग की है. उनका कहना है कि इस बारे में गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने सैद्धांतिक स्वीकृति दी है.

वहीं कैलाश विजयवर्गीय की इस मांग पर जिला प्रशासन सहमत नहीं है. इस मामले में कलेक्टर मनीष सिंह ने स्पष्ट किया है कि केंद्रीय गृह मंत्रालय के निर्देशानुसार संक्रमण रोकने के लिए रविवार का लॉकडाउन आवश्यक है. यदि रविवार को भी अनलॉक कर दिया जाता है तो संक्रमण की स्थिति बेकाबू हो सकती है. उन्होंने बताया अगर अब शहर में संक्रमण फैला तो इलाज की व्यवस्था भी सीमित हो सकती है. इसलिए रविवार को अनलॉक नहीं किया जा सकता है. लिहाजा अब इसको लेकर दोनों के बीच विरोधाभासी स्थिति फिर बन रही है.

वही मध्यप्रदेश के ग्रह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने इस सम्बंध में ट्वीट करते हुए लिखा की रविवार के #lockdown में छूट के लिए जनप्रतिनिधियों के फोन आ रहे हैं। चूंकि 3 अगस्त को #रक्षाबंधन का त्योहार है। यह बात मुख्यमंत्री @ChouhanShivraj जी के संज्ञान में लाई गई है। इसको लेकर एक-दो दिन में सभी लोगों से चर्चा कर निर्णय लिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

error: Do not copy content thank you