प्राणों की रक्षा करना पड़ा महंगा! चाचा के लिए ऑक्सीजन ला रहे तीन भतीजों की सड़क हादसे में मौत

मंदसौर। अपने चाचा के लिए ऑक्सीजन ला रहे तीन युवकों की कार की महु- नीमच हाईवे पर सुंठोद-मल्हारगढ़ के बीच डंपर से भिड़ंत हो गई. इस दर्दनाक सड़क हादसे में कार सवार तीन युवकों की मौत हो गई. बताया गया है की तीनों मृतक मंदसौर के निवासी हैं, जो ऑक्सीजन सिलेंडर कि व्यवस्था करने राजस्थान गए थे. पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार, युवकों के चाचा कोरोना संक्रमित है जिनका इलाज मंदसौर में चल रहा है. युवक अपने चाचा के लिए ऑक्सीजन का सिलेंडर लेकर लौट रहे थे. इसी बीच सड़क हादसे का शिकार हो गए ओर हादसे मे तीनों की मौत हो गई.

यह घटना सोमवार रात करीब 11 बजे की बताई जा रही है. महू-नीमच हाईवे स्थित सुंठोद व मल्हारगढ़ के बीच सड़क की गलत साइड चल रहे डंपर में मंदसौर की ओर जा रही तेज रफ्तार कार जा घुसी. हादसे में मृत कार सवार लोगों की पहचान तालिब पिता युसुफ मंसुरी, रिजवान पिता अब्दुल रशीद मंसुरी, फजल पिता जफर मंसुरी के रूप में की गई है. मृतक रिजवान मंदसौर के संजीत नाके पर सुख सुविधा मेडिकल का संचालन करता था, तो वहीं फजल डेंटल चिकित्सक थे.

घटना के तुरंत बाद मौके पर मल्हारगढ़ व पिपलियामंडी पुलिस पहुंच गई. जानकारी मिली है कि हादसा डंपर चालक कि लापरवाही से हुआ जो सड़क की रॉन्ग साइड पर चल रहा था.

घटना के दौरान मौके से गुजर रही एक एंबुलेंस पर लोगो का गुस्सा फुटा गया. जब लोगो ने एंबुलेंस को रोका तो चालक ने पास ही दूसरे एक्सीडेंट केस में जाने कि बात कही. एंबुलेंस चालक अपनी बात पर अड़ा रहा. उधर, घटना के बाद डंपर चालक अंधेरे का फायदा उठाकर मौके से भाग निकला.

मल्हारगढ़ थाना प्रभारी नरेन्द्र कुमार यादव के अनुसार, तीनों युवक छोटी सादड़ी से आ रहे थे. पुलिस ने तीनों युवकों के शवों को कार से निकालकर परिजनो को हादसे की सुचना दी. साथ ही शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. पुलिस घटना की जांच में लगी हुई है और डंपर चालक की तलाश भी की जा रही है.

You may have missed