पति बोला- मुंबई चलो, पार्टनर चेंज कर एन्जॉय करते हैं, पत्नी ने दर्ज करवाई एफआईआर

ग्वालियर : शहर में एक महिला ने अपने रेलवे कर्मचारी पति पर वाइफ स्वैपिंग का दबाव बनाने और उससे लाखों रुपए हड़पने का आरोप लगाया है. आरोपी पति मुंबई के एक ग्रुप से जुड़ा है, जहां पार्टनर बदलकर एंजॉय करते हैं. महिला तलाकशुदा थी और फेसबुक से प्यार होने के बाद उसने आरोपी से दूसरी शादी की है. महिला की शिकायत पर पुलिस ने तीन लोगों पर मामला दर्ज कर लिया है.


पेशे से नर्स है पीड़िता

गिरवाई थाना क्षेत्र निवासी पीड़िता पेशे से नर्स है. साल 2019 में महिला का अपने पहले पति से तलाक हो गया था. तब तलाक होने के बाद महिला को भरण पोषण के लिए 25 लाख रुपए और 5 लाख के जेवरात मिले थे. इसके बाद जनवरी 2020 में सोशल मीडिया पर महिला की एक शख्स से दोस्ती हुई जिसने अपना नाम विनोद बघेल बताया. विनोद ने खुद को रेलवे कर्मचारी और दतिया का निवासी बताया, साथ ही जब महिला ने उससे पूछा कि अभी कहां पदस्थ हो तो आरोपी ने खुद को मुंबई में होना बताया. इसके बाद विनोद ने महिला को शादी का ऑफर दिया, और अपने परिजनों को महिला के घर भेज दिया. इसके बाद पीड़िता के परिवार ने भी शादी के लिए हामी भर दी.


पीड़िता के पैसों से आरोपी ने खरीद लिया मकान

26 जनवरी 2020 को दोनों की शादी हो गई. लेकिन यहां महिला ने आरोप लगाया कि शादी से पहले ही विनोद ने उसके साथ अप्राकृतिक संबंध बनाए, और विरोध करने पर भी आरोपी नहीं माना. जब दोनों की शादी हो गई तो विनोद सिर्फ 20 दिन ही महिला के साथ रहा और तब भी गलत तरीके से संबंध बनाता रहा. हद तो तब हो गई जब आरोपी ने गिरवाई में महिला के पैसों से एक मकान खरीद लिया, और अपने छोटे भाई अमन बघेल को 60 हजार रुपए भी दिला दिए. आरोपी विनोद का साथ उसकी मां गुड्डी बाई ने भी दिया.


मुंबई में ग्रुप ज्वाइन करने के लिए कहा

इसके बाद विनोद ने शादी क्यों कि इसका अंदाजा पीड़िता को होने लगा. जब एक दिन विनोद ने उसको मुंबई साथ चलने के लिए कहा और उसे बताया कि उसने मुंबई में ग्रुप ज्वाइन किया है, जंहा पति-पत्नी को बदलकर एंजॉय करते हैं. इसी दौरान पीड़िता को ये भी पता चला कि जिस मकान को उसने खरीदा था वह बैंक से फाइनेंस है, जिसकी शिकायत महिला ने थाने पहुंचकर की. पुलिस ने महिला की शिकायत पर पति विनोद, भाई अमन और मां गुड्डी बाई पर दुष्कर्म और धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है.

You may have missed

error: Do not copy content thank you