May 27, 2021

गुजरात: लंबी मूंछ रखने की वजह से दलित युवक पर OBC समाज के लोगों ने किया हमला, जातिवादी गालियां दीं और लाठी-डंडों से की पिटाई

0 0
Read Time:3 Minute, 2 Second

अमदाबाद। जिले की साणंद तहसील के अंतर्गत एक दलित युवक ने OBC वर्ग के 10 लोगों के खिलाफ थाने में SC/ST एट्रोसिटी एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज कराया है. अनुसूचित जाति से सम्बंध रखने वाले पीड़ित युवक का आरोप है कि OBC ठाकोर समाज के कुछ लोगों ने उसके मूछें रखने से नाराज होकर गत दिनों उस पर हमला कर दिया.

साणंद GIDC में रेफ्रिजरेटर मैन्युफैक्चरिंग कंपनी में कार्य करने वाले 22 साल के सुरेश वाघेला ने साणंद पुलिस को दी अपनी शिकायत में बताया कि उसी के गांव के धमा ठाकोर, कोशिक बालंद, अतिक ठाकोर, आनंद ठाकोर संजय ठाकोर विजय ठाकोर सहित 10 लोगों ने साथ मिलकर उस पर रविवार रात को हमला कर दिया जिसमें वह बुरी तरह घायल हो गया. सुरेश का आरोप है कि उसके मूछें रखने से यह लोग नाराज थे और उसे बुलाकर धमा ठाकोर ने यह भी पूछा कि मूछें क्यों रखता है

रविवार को भी धमा ठाकुर ने उसे अपने पास बुलाया और पूछा कि मूछें क्यों रखी है? जब सुरेश ने उसकी बात को नजरअंदाज कर जवाब नहीं दिया तो वह उसके घर आया और उसे खुलेआम धमकी देने लगा. सुरेश ने इन सब चीजों से तंग आकर अपना मोबाइल बंद कर लिया, इसके बाद देर रात उसके घर के मुख्य दरवाजे को खटखटाने की आवाज आई. पीड़ित सुरेश के पिताजी ने जब दरवाजा खोला तो बाहर धमा ठाकोर व उसके साथी हाथों में लकड़ी के डंडे व लोहे के पाइप लेकर खड़े थे और जातिवादी गालियां दे रहे थे. जब सुरेश घर से बाहर आया तो उसे पकड़ कर पीटने लगे तथा पाइप व डंडों से हमला कर उसे बुरी तरह से घायल कर दिया.

बता दें कि, गुजरात में दलितों के मूंछें रखने, दलित युवकों के घोड़ी पर बैठ कर निकासी निकालने को लेकर GENERAL व OBC समाज के लोग कई बार नाराजगी जताते हुए उनके साथ जातिगत भेदभाव करते रहते हैं. अहमदाबाद जिले के साणंद में इस तरह की यह पहली घटना नहीं है इससे पहले भी उत्तर गुजरात में सौराष्ट्र में इस तरह की कई घटनाएं हो चुकी है. लेकिन कड़ी सजा नही मिलने के चलते इन जातिवादी गुंडों के हौसले दिन-प्रतिदिन बढ़ते जा रहे है.

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Latest Post

error: Content is protected !!