October 25, 2020

कांग्रेस के बागी विधायक राहुल लोधी का दमोह में हो रहा जमकर विरोध, विधायक की फोटो पर लोगों ने पोती कालिख

दमोह। कांग्रेस के टिकट पर विधायक चुने गए राहुल सिंह के कांग्रेस छोड़कर भाजपा ज्वाइन करने के साथ ही विरोध शुरू हो गया है । लोगों ने पोस्टर पर राहुल सिंह की फोटो पर कालिख पोती तो सोशल मीडिया पर जमकर विरोध दर्ज किया । उन्हें गद्दार और बिकाऊ भी करार दे दिया तो दूसरी ओर भाजपा ने पटाखे फोड़ कर खुशी मनाई।

राहुल सिंह के कांग्रेस छोड़ने के साथ ही कांग्रेसियों ने जमकर विरोध किया। विभिन्न स्थानों पर लगे राहुल सिंह की होर्डिंग में फोटो पर कालिख पोती। यह विरोध यहीं नहीं रुका हटा में भी लोगों ने जमकर विरोध जताया। वहीं सोशल मीडिया पर भी अब राहुल सिंह का खुलकर विरोध हो रहा है। राहुल सिंह की खासम खास मानी जाने वाली कांग्रेस नेत्री शालिनी सिंह ने लिखा है कि आज रावण दहन हो गया, गद्दार ने फिर गद्दारी कर दी। तो युवा कांग्रेस नेता और अधिवक्ता दीपक श्रीवास्तव ने सोशल मीडिया पर लिखा है कि हमारे साहब इतने धार्मिक हैं कि मुहूर्त देखकर बिकते हैं।

इसी बीच लोधी सेना ने भी एक ट्वीट किया है। व्हाट्सएप यूनिवर्सिटी पर एक पोस्ट सार्वजनिक की है जिसमें लिखा है कि लोधी समाज के लोग अपने वचन और ईमान के पक्के होते हैं लेकिन प्रदुम्न सिंह और राहुल सिंह ने गद्दारी कर समाज का नाम डुबो दिया है इसलिए उनका लोधी समाज से बहिष्कार किया जाता है। कॉन्ग्रेस नेता नीलश्याम सोनी ने लिखा है, दमोह की जनता के साथ घोर विश्वासघात। तो युवा नेता राहुल जैन ने लिखा है कितने करोड़ में बिके। दिवाकर करमरकर ने लिखा है दो मुहा मुझे पहले ही अंदाजा था। दो बैलों की जोड़ी कभी बिगड़ नहीं सकती । हटा युवक विधानसभा के अध्यक्ष राजेश बढ़गैया ने लिखा है एक और गद्दार बेनकाब सच्ची एवं जमीनी कार्यकर्ताओं को शुभकामनाओं सहित बधाई। इस तरह की कई अन्य पोस्ट और लोगों ने भी डाली है। जिसमें किसी ने राहुल को बिकाऊ तो किसी ने गद्दार करार दिया है।इन पोस्टों पर लोगों ने बहुत शेयर और कमेंट भी किए हैं लोगों ने बहुत ही बुरी तरीके से राहुल सिंह के कांग्रेसी छोड़ने पर लताड़ लगाई है।

इसके ठीक उलट स्थानीय घंटाघर चौराहे पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने राहुल सिंह के भाजपा में शामिल होने पर पटाखे फोड़ कर अपनी खुशी का इजहार किया लेकिन यहां पर भाजपा की खेमे बाजी खुलकर दिखी किसी ने नारे लगाए की दमोह का विधायक जयंत मलैया जैसा होना चाहिए, तो किसी ने नारी लगाए कि दमोह का विधायक राहुल सिंह जैसा होना चाहिए।

बहरहाल जो भी हो लेकिन राहुल के भाजपा में जाने का जोरदार तरीके से विरोध कर रहे हैं। बता दें कि यहां पर भी भाजपा में दो घटे एक गुट केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल का तो दूसरा गुट पूर्व वित्त मंत्री जयंत मलैया का है। इसी के कारण नारेबाजी होने पर दो विपरीत नारे लगे।

दमोह से शंकर दुबे की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *