बिना मास्क फल बेचने वाले का नगर परिषद के कर्मचारियों ने काटा चालान, गुस्साएं ठेले वाले ने CMO सहित अन्य कर्मचारियों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा

रायसेन। एक ओर जहां मध्य प्रदेश सहित पूरे देश में कोरोना महामारी की चपेट में है. इस महामारी से बचने के लिए प्रशासन द्वारा जनता कर्फ्यू लगाकर लोगों को अपने घरों में रहने के निर्देश दिए है, वहीं दूसरी ओर लोग इस कर्फ्यू का पालन नहीं कर रहे है. प्रशासन ने आदेश का कड़ाई से पालन करने के लिए दल बनाए है और नोडल अधिकारी की नियुक्ति किए है. नगर परिषद के एक दल ने एक फल विक्रेता को बिना मास्क के मुख्य मार्ग पर फल बेचने से रोकने का प्रयास किया फल विक्रेता ने दल पर हमला कर दिया.

CMO राजेन्द्र शर्मा ने बताया कि मुझे कोविड-19 महामारी संक्रमण को देखते हुए सिलवानी SDM ने नगरीय क्षेत्र का नोडल अधिकारी नियुक्त किया है. मैं शासन के दिए गए निर्देशों के पालन में नगर परिषद के कर्मचारियो रविशंकर यादव, रितेश परचे, संजीव कलोसिया, सुरेंद्र सियोते और सीताराम साहू, धर्मेन्द्र गुप्ता के साथ नगर के मुख्य मार्गों का भ्रमण करते हुए करीब 3 बजे सियरमउ रोड पर सलीम उद्दीन फल से भरा ठेला कोविड-19 का पालन ना करते हुए पाया गया. सलीम से दल ने कहा गया कि शासन द्वारा पूर्ण मना करने के बाद भी फल-सब्जी हाथ ठेला लगाया है. जिसका पंचनामा तैयार किया गया. सलीम ने पंचनामा में हस्ताक्षर करने से इंकार किया. तब नगर परिषद का अमला हाथ ठेला नगर परिषद ला रहे थे, इस दौरान सलीम ने सीएमओ की टीम पर हमला कर दिया. हमले में सीएमओ सहित तीन कर्मचारियों को चोट भी लगी है.

नगर परिषद सिलवानी के मुख्य नगर पालिका अधिकारी राजेन्द्र शर्मा ने इसकी रिपोर्ट पुलिस थाना सिलवानी में दर्ज करवाई है. पुलिस ने सीएमओ के आवेदन पर आरोपी फल विक्रेता सलीम उद्दीन पर धारा 186, एससीएसटी एक्ट और आपदा प्रबंधन की धारा 51 सहित कई धाराओं के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया है.