June 22, 2020

कौन लोग रहे पूर्व में आगर विधानसभा के सरताज, जाने दि टेलीग्राम पर.

आगर-मालवा विधायक मनोहर ऊंटवाल के निधन के बाद रिक्त हुई आगर विधानसभा पर अब उपचुनाव का बिगुल बज चुका है, जल्द ही उपचुनाव होंगे, जाने पूर्व में रह चुके विधायकों के बारे में पढ़े पूरी खबर..

आगर-मालवा सीट पर पिछले 30 वर्षो में रहे विधायक

1990 में भाजपा के नारायण सिंह केसरी 18610 वोट से जीते.

1993 में भाजपा के गोपाल परमार 3631 वोट से जीते.

1998 में कांग्रेस के रामलाल मालवीय 15817 वोट से जीते.

2003 में भाजपा की रेखा रत्नाकर 24858 वोट से जीतीं.

2008 में भाजपा के लाल जी राम मालवीय 16734 वोट से जीते.

2013 में भाजपा के मनोहर ऊंटवाल 28859 वोट से जीते.

2014 के विधानसभा उपचुनाव में भाजपा के गोपाल परमार 27702 वोट से जीते.

2018 में भाजपा के मनोहर ऊंटवाल 2490 वोट से जीते.

इनके अलावा:

●वर्ष 1957 भारतीय जन संघ से मदनलाल विधायक रहे.

●वर्ष 1962 में फिर से मदनलाल ने चुनाव लड़ा औऱ एक बार पुनः आगर विधानसभा सीट पर कब्जा जमाया.

●वर्ष 1967 में भारतीय जनसंघ से भेरूलाल फिरोजिया विधायक रहे.

●वर्ष 1972 में कांग्रेस से मधुकर मरमट विधायक रहे.

●वर्ष 1977 में जनता पार्टी से सत्यनारायण जटिया विधायक रहे.

●वर्ष 1980 में भारतीय जनता पार्टी से भेरूलाल फिरोजिया विधायक बने थे.

●वर्ष 1985 में भारतीय जनता पार्टी से शंकुन्तला बाई चौहान विधायक रही.

प्रदेश में राज्यसभा चुनाव के बाद अब विधानसभा उपचुनाव के लिए सरगर्मी काफी बढ़ती दिखाई दे रही है, जिन सीटो पर उपचुनाव होने हैं उन पर दोनो ही पार्टियों के नेता टिकट की जुगाड़ में जुटे हुए हैं. विधायक मनोहर ऊंटवाल के निधन से रिक्त हुई आगर मालवा विधानसभा सीट पर उपचुनाव होना है. ऐसे में उपचुनाव की तैयारी को लेकर पार्टी हाईकमान के साथ ही स्थानीय स्तर पर टिकट की आस लगाए बैठे नेताओ ने भी अपनी तैयारी शुरू कर दी है. कांग्रेस से यहां एनएसयूआई प्रदेश अध्यक्ष विपिन वानखेड़े का टिकट लगभग तय है, फिर भी कुछ अन्य स्थानीय नेता टिकट के लिए अपने आकाओं के आगे-पीछे घूम रहे हैं. वही भाजपा में भी टिकट के लिए लंबी कतार है, लेकिन भाजपा से पूर्व विधायक रेखा रत्नाकर और पूर्व विधायक गोपाल परमार के साथ ही कुछ स्थानीय व बाहरी नेता टिकट की उम्मीद लगाए बैठे हैं.

कुछ इस तरह का है आगर विधानसभा का जातिगत गणित

मध्य प्रदेश की आगर मालवा विधानसभा क्रमांक 166 अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है. इसे भाजपा के लिए भी सुरक्षित माना जाता है. इस विधानसभा क्षेत्र में दो तहसील आगर और बडौद शामिल हैं. मतदाताओं की बात करें तो इस विधानसभा में कुल 2 लाख 17 हजार 369 मतदाता हैं. इनमें एक लाख 2 हजार 9 पुरुष मतदाता तथा 1 लाख 5 हजार 355 महिला मतदाता हैं. साथ ही 5 मतदाता तृतीय लिंग से आते हैं. जहां विधानसभा के लिए होने वाले उपचुनाव में भाजपा की ओर से पूर्व विधायक रेखा रत्नाकर तथा पूर्व विधायक गोपाल परमार प्रबल दावेदार हैं तो वहीं कांग्रेस से पूर्व प्रत्याशी और एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष विपिन वानखेड़े की मजबूत दावेदारी मानी जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Post