आगर: अजाक्स संघठन ने मनाया ‘भारतीय संविधान दिवस’

आगर-मालवा। आज आगर में अनुसूचित जाति जनजाति कर्मचारी संगठन (अजाक्स) द्वारा कंपनी गार्डन में संविधान निर्माता डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के चित्र पर माल्यार्पण कर संविधान दिवस मनाया गया और बाबा साहब अंबेडकर के विचारों पर वहां मौजूद लोगों ने प्रकाश डाला. इस मौके पर अजाक्स जिला अध्यक्ष कैलाश सूर्यवंशी, सिद्धनाथ सिंह, मानसिंह चौहान, मोहनलाल सूर्यवंशी, राधेश्याम जादमे, मोहनलाल दशलानिया व अन्य अजाक्स के सदस्य मौजूद थे.

क्यो मनाया जाता है संविधान दिवस

हर वर्ष 26 नवंबर का दिन देश में संविधान दिवस के रूप में मनाया जाता है. बता दें 26 नवंबर को राष्ट्रीय कानून दिवस के रूप में भी जाना जाता है. 26 नवंबर, 1949 को ही देश की संविधान सभा ने वर्तमान संविधान को विधिवत रूप से अपनाया था. हालांकि इसे 26 जनवरी, 1950 को लागू किया गया था. भारतीय संविधान में सभी वर्गो के हितों के मद्देनज़र विस्तृत प्रावधानों को शामिल किया गया है. सर्वोच्च न्यायालय की विभिन्न व्याख्याओं के माध्यम से भी बदलती परिस्थितियों के अनुसार विभिन्न अधिकारों को इसमें सम्मिलित किया गया.

कब और क्यों लिया गया संविधान दिवस मनाने का फैसला

वर्ष 2015 में संविधान के निर्माता डॉ. भीमराव आंबेडकर किब125वीं जयंती वर्ष के रूप में 26 नवंबर को सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय ने इस दिवस को ‘संविधान दिवस’ के रूप में मनाने के केंद्र सरकार के फैसले को अधिसूचित किया था. संवैधानिक मूल्यों के प्रति नागरिकों में सम्मान की भावना को बढ़ावा देने के लिए यह दिवस मनाया जाता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed