मध्यप्रदेश: शिकायत लेकर पहुंची आईटीआई की छात्रा को इस कलेक्टर ने अपनी कुर्सी सौंपकर बना दिया एक दिन का “कलेक्टर”

मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले में एक छात्रा की शिकायत सुनने के बाद कलेक्टर साहब के एक निर्णय की सोशल मीडिया पर जमकर वाहवाही हो रही है. दरअसल, आईटीआई की एक छात्रा अपनी शिकायत लेकर कलेक्टर के पास पहुंची थी. कलेक्टर ने शिकायत सुनी और उसे अपनी कुर्सी सौंपकर सुनवाई करने के लिए कहा. साथ ही, छात्रा की शिकायत पर कार्रवाई भी की.

यह है पूरा मामला

जानकारी के अनुसार, शिवपुरी में आईटीआई की छात्रा जाह्नवी जिला कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह के पास अपनी शिकायत लेकर पहुँची थी. उसने संस्थान में परीक्षा देने से वंचित रहे छात्र-छात्राओं की मदद करने की गुहार लगाई थी. कलेक्टर ने सुनवाई करके इस मामले की जांच कराने का आदेश दिया. साथ ही, जाह्नवी को अपनी कुर्सी पर बैठाकर एक दिन के लिए कलेक्टर बना दिया. इसके बाद जाह्नवी कलेक्टर की कुर्सी पर बैठकर दिनभर लोगों की समस्याएं सुनती रही और उनका समाधान बताती रही.

कलेक्टर ने दी यह जानकारी

बता दें कि इस दौरान कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह ने जाह्नवी को अपने दायित्वों के बारे में जानकारी भी दी. कलेक्टर ने कहा कि इस जिले में लड़कियों की शिक्षा पर बहुत काम करना है. सुनवाई के दौरान ही मेरे मन में यह विचार आया कि इस बच्ची को यह मौका दिया जाए. कम उम्र में ही जिम्मेदारियों का एहसास कराना बेहद जरूरी होता है.

पहले भी की गई हौसलाअफजाई

गौरतलब है कि, बच्चों का हौसला बढ़ाने के लिए मध्यप्रदेश में पहले भी कई अधिकारी कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह की तरह सकारात्मक कदम उठा चुके हैं. साल 2019 के दौरान जबलपुर के एसपी रहे अमित कुमार सिंह ने पांच छात्रों को थोड़ी-थोड़ी देर के लिए पुलिस अधीक्षक बनाया था. वहीं, दूसरे जिलों के अधिकारी भी इस तरह बच्चों को मोटीवेट करते रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *