January 22, 2021

केरल: 17 साल की लड़की का 44 लोगों ने मिलकर किया यौन उत्पीड़न, 24 आरोपियों की आज तक नहीं हुई गिरफ्तारी

0 0
Read Time:3 Minute, 3 Second

केरल में 17 साल की एक नाबालिग लड़की के साथ 44 बार रेप होने का मामला सामने आया है. इस मामले में पुलिस ने 20 लोगों को अब तक गिरफ्तार किया गया है वही अन्य 24 लोगों की तलाश की जा रही है.

●केरल में 17 साल की नाबालिग लड़की के साथ 44 लोगों ने किया बलात्कार..

●बलात्कार और छेड़छाड़ के आरोप में 44 पुरुषों के खिलाफ 32 मामले दर्ज..

●इन मामलों में शामिल 20 लोगों को अब तक गिरफ्तार किया जा चुका है..


तिरुवनंतपुरम। केरल की 17 वर्षीय नाबालिग दुष्कर्म पीड़िता ने हैरान करने वाला खुलासा करते हुए कहा है कि कुछ महीनों में 44 लोगों ने उसका यौन उत्पीड़न किया है. निर्भया केंद्र पर हुई काउंसलिंग के दौरान इस किशोरी ने अपनी बात कही है. जिन लोगों पर उसके यौन उत्पीड़न का आरोप है, उनमें से कई आरोपी अब तक गिरफ्तार नहीं किए गए हैं.

पुलिस ने बताया कि किशोरी का यह अनुभव तब सामने आया जब निर्भया केंद्र पर उसके साथ काउंसिलिंग का सत्र चल रहा था. केरल के मलप्पुरम जिले के पल्‍लकड़ में एक 17 वर्षीय लड़की से बलात्कार और छेड़छाड़ के आरोप में 44 पुरुषों के खिलाफ 32 मामले दर्ज किए गए हैं. पुलिस के अनुसार, इन मामलों में शामिल 20 लोगों को अब तक गिरफ्तार किया जा चुका है. इसके अलावा सभी आरोपियों की तलाश की जा रही है.


कई आरोपियों की हो चुकी है गिरफ्तारी

पुलिस के अनुसार, इस मामले में जिन लोगों के खिलाफ मुकदमे दर्ज हुए थे, उसमें से कई की गिरफ्तारी हो चुकी है. इसके अलावा आरोपियों में शामिल कई लोग न्यायिक हिरासत में हैं, जिनके खिलाफ पुलिस द्वारा कानूनी कार्यवाही जारी है.


केरल में रेप के आंकड़े उठा रहे कई सवाल

बता दें कि केरल में बीते कुछ दिनों में रेप के कई मामले चर्चा में रहे हैं. NCRB की एक रिपोर्ट के अनुसार 100% शिक्षित आबादी वाला राज्य केरल प्रति लाख आबादी पर महिलाओं के रेप केस की दर में दूसरे स्थान पर है. वहां प्रति लाख आबादी पर 11.1 महिलाओं का रेप हुआ। वहीं, 15.9 की दर से राजस्थान इस लिस्ट में टॉप पर है.

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *