June 23, 2020

सरकार ने लिया छात्रों के जनरल प्रमोशन का निर्णय, जाने छात्रों की राय.

छात्र संघठन एन.एस.यू.आई व छात्रों द्वारा लगातार महाविद्यालय में जनरल प्रमोशन की मांग की जा रही थी लेकिन शिवराज सरकार द्वारा मांग को नजरअंदाज किया जा रहा था लेकिन अब प्रदेश की बिगड़ती स्तिथि और कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले को ध्यान में रखते हुए सरकार ने जनरल प्रमोशन पर मुहर लगा दी है। कई छात्र इस निर्णय से खुश है तो कई इस निर्णय को चुनावी जुमला मान रहे है आइये जानते है छात्रों व छात्र संघठन के पदाधिकारी से क्या मानना है उनका इस जनरल प्रमोशन के लेकर…

एन.एस.यू.आई द्वारा लगातार छात्रों की लड़ाई लड़ते हुए सरकार से जनरल प्रमोशन की मांग की जा रही थी, वही विद्यार्थी परिषद द्वारा लगातार परीक्षा करवाने की मांग की जा रही थी. अंत में सरकार को एन.एस.यू.आई के पक्ष में फैसला लेना पड़ा, यह छात्रों की जीत है और छात्रों की जीत ही एन.एस.यू.आई की जीत है.

अनमोल वर्मा, विधानसभा अध्यक्ष एन.एस.यू.आई आगर

सरकार का यह फैसला काफी सराहनीय है, बारहवीं की परीक्षा में हुए कोरोना पॉजिटिव हुए छात्रों को ध्यान में रखते हुए सरकार ने यह निर्णय लिया है जो कि पूर्णरूप से छात्रहित में है।

हेमंत धाकड़, (छात्र, पत्रकारिता एवं जनसंचार अध्यनशाला, दे.अ.वि.वि,इंदौर)

जनरल प्रमोशन का निर्णय सही तो है परंतु जो विद्यार्थी पूरी लगन के साथ साल भर मेहनत करके पढ़ाई करता है उन लोगों के मन में थोड़ी निराशा है,पर वर्तमान स्थिति को देखकर मैं सरकार के इस निर्णय का समर्थन करता हूं।

प्रखर चन्देल, सोशल मीडिया प्रभारी युवा मोर्चा

सरकार को आखिर एन.एस.यू.आई की मांग के आगे झुकना पड़ा, एन.एस.यू.आई सदैव छात्रहित में काम करते आई है और जनरल प्रमोशन की लड़ाई एन.एस.यू.आई ने दमदारी से लड़ी और आखिर में सफलता प्राप्त की, छात्रों की जीत को ही हम हमारी जीत मानते है।

राहुल मेघवाल, (जिला महासचिव, एन.एस.यू.आई आगर)

वर्तमान परिस्तिथियों को ध्यान में रखते हुए जनरल प्रमोशन का निर्णय बिल्कुल सही है, कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए भी यह निर्णय सरकार व छात्रों दोनो के लिए फायदेमंद साबित होगा।

आसिफ शेख (जिला महासचिव एन.एस.यू.आई आगर)

सरकार का यह निर्णय काफी सराहनीय है, अगर परीक्षा का आयोजन होता तो लाखों बच्चों के कोरोना संक्रमित होने का खतरा था, विद्यार्थियों को जनरल प्रमोशन देना प्रदेश, छात्र व छात्रों के परिवार तीनों के लिए लाभदायक साबित होगा।

अर्चित शर्मा,(छात्र, मेडीकैप्स यूनिवर्सिटी इंदौर)

पूरे सेमेस्टर में हमारी ना के बराबर कक्षा लगी है, टेक्निकल कोर्स में बिना पढ़े परीक्षा देना असम्भव सा है. सरकार का यह फैसला छात्रहित में है, और हम सभी आर.जी.पी.वी विश्वविद्यालय के छात्र इस निर्णय का स्वागत करते है।

प्रियांशु राठौर, छात्र(एक्रोपोलिस इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, इंदौर)

सरकार का यह निर्णय सराहनीय है। अधिकतर कॉलेज उन शहरों में है जहाँ आज की स्थिति काफी खराब है, महानगरों की स्तिथि को ध्यान में रखते हुए सरकार का यह फैसला स्वागत योग्य है, और हम सभी छात्र इस फैसले को लेकर काफी खुश है।

रविन्द्र प्रताप सिंह, छात्र(माधव साइंस कॉलेज, उज्जैन)

जनरल प्रमोशन के निर्णय में हम सरकार के साथ है. छात्र ही देश का भविष्य है,सरकार ने छात्रहित में यह फैसला लिया है जो जरूर ही भविष्य में फायदेमंद साबित होगा।

माधव पालीवाल, छात्र(आई.आई.पी.एस, दे.अ.वि.वि,इंदौर)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Post