किसानों की सोयाबीन की फसल हुई खराब, मुआवजे के लिए कांग्रेस अ.जा प्रकोष्ठ ने सौंपा ज्ञापन

समय पर बारिश नहीं होने से किसानों की सोयाबीन की फसल में पीलापन आने लगा है. कई किसानों की फसल भी खराब हो गई है. शनिवार को जिला कांग्रेस अ.जा प्रकोष्ठ ने सर्वे की मांग की है. मांग पूरी नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी भी दी गई है. पढ़िए पूरी खबर..

आगर-मालवा। जिले में कई स्थानों पर समय पर बारिश नहीं होने के चलते अधिकांश किसानों की सोयाबीन फसल में पीलापन आने के साथ ही अफलन की स्थिति निर्मित हो रही है. किसानों की खराब हुई फसल के मुआवजे की मांग को लेकर शनिवार को जिला कांग्रेस अ.जा प्रकोष्ठ ने मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन सौंपा है. संयुक्त कलेक्टर अशफाक अली को ज्ञापन देने पहुंचे कांग्रेस अ.जा प्रकोष्ठ के कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी भी की. इस दौरान किसान खराब फसल भी अपने साथ ले गए और अधिकारियों को बताई.

ज्ञापन में बताया गया कि क्षेत्र में अधिकांश किसानों की फसल पूरी तरह से खराब हों चुकी है. प्रशासन द्वारा खराब फसलों का सर्वे भी नहीं करवाया जा रहा है. ऐसे में किसानों को नुकसान की भरपाई नहीं मिल पाएगी. साल 2018 में खराब हुई फसलों का बीमा भी कई किसानों को आज तक नहीं मिला है, जबकि किसानों की बीमा राशि भी बीमा कंपनी द्वारा काट ली गई थी. अ.जा प्रकोष्ठ की मांग है कि किसानों की समस्याओं का निराकरण किया जाए.

कांग्रेस अ.जा प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष गौरीशंकर सुर्यवंशी ने बताया की किसानों की सोयाबीन फसल काफी हद तक खराब हो चुकी है. अधिकारी सर्वे करने तक नहीं पहुंचे हैं, बिना सर्वे के नुकसान की भरपाई नहीं हो पाई. इसलिए सरकार से किसानों के लिए मुआवजे की मांग करते हैं. मांगे पूरी नहीं होने पर हमारे द्वारा उग्र आंदोलन व धरना प्रदर्शन किया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

error: Do not copy content thank you