प्रतिबंध के बावजूद भाजपा नेता ने मनमर्जी से गर्भगृह में जाकर किये बाबा बैजनाथ के दर्शन, विरोध में उतरी एनएसयूआई

आगर-मालवा,विजय बागड़ीकहने को तो शासन के द्वारा बनाएं गए कानून-कायदे सभी देशवासियों के लिए एक जैसे होते हैं लेकिन अक्सर हम देखते आए हैं की राजनीति में लिप्त लोग इन कानून-कायदों की खुलेआम धज्जियां उड़ाते हैं और इसी तरह का एक फोटो भाजपा नेता का सोशल मीडिया पर कल सोमवार को वायरल हुआ जो अब इसी तरह की परिस्थिति को दर्शा रहा है.

दरअसल,भाजपा नेता मनोज ऊंटवाल के समर्थकों ने कल श्रावण मास के प्रथम सोमवार पर फेसबुक के जरिए एक फोटो शेयर किया जिसमें नेताजी अपने परिवार के साथ बाबा बैजनाथ महादेव मंदिर के गर्भगृह में खड़े होकर पूजा करते नजर आ रहे हैं लेकिन आपको पता होगा की कोरोनाकाल के चलते मंदिर के गर्भगृह में प्रवेश लगभग 1 साल से अधिक समय से बंद है. नेता जी ने गर्भगृह में अंदर जाकर दर्शन तो कर लिए लेकिन अब एनएसयूआई के कार्यकर्ता उनके विरोध में उतर आए हैं.

आज मंगलवार को एनएसयूआई के राष्ट्रीय सचिव अंकुश भटनागर के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने जिला कलेक्टर अवधेश शर्मा के नाम एक ज्ञापन SLR राजेश सरवटे को सौंपा.

ज्ञापन में बताया गया है कि बैजनाथ महादेव मंदिर के गर्भगृह में प्रवेश पिछले वर्ष मार्च से बंद है. सभी बड़े अधिकारी व वीआईपी भी गर्भगृह के बाहर खड़े होकर दर्शन करते है. कल श्रावण मास के प्रथम सोमवार पर श्रद्धालु बड़ी संख्या में गिरते पानी में कतार लगाकर बाहर दर्शन के लिए इंतजार कर रहे थे, वहीं भाजपा नेता ने परिवार सहित शासकीय आदेश का उल्लंघन करते हुए गर्भगृह में प्रवेश कर दर्शन किए.

अंकुश भटनागर ने बताया कि भाजपा नेता मनोज ऊंटवाल की इस तरह की हरकत काफी निंदनीय है और भाजपा नेता के मंदिर गर्भगृह में प्रवेश से भक्तों की धार्मिक आस्था को ठेस पहुँची है. उन्होंने जिस तरह से शासकीय आदेश का उल्लंघन किया है उन पर अपराधिक प्रकरण दर्ज किया जाना चाहिए.

इस दौरान एनएसयूआई के नगर अध्यक्ष इमरान अली, उपाध्यक्ष राजेश मालवीय, सेवादल जिलाध्यक्ष अनिल सोलंकी, पूजा परमार, रवि गवली व अन्य कार्यकर्ता उपस्थित थे…

साथ ही एसएलआर राजेश सरवटे ने भी एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं को उचित कार्यवाही का आश्वासन दिया है वहीं उन्होंने कहा कि इस मामले में जांच करवा रहे है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

error: Do not copy content thank you