May 27, 2021

ब्राह्मण कन्या शिवा त्रिपाठी ने भीम आर्मी चीफ “चंद्रशेखर” पर जताया भरोसा, मदद के लिए लगाई गुहार…

1 0
Read Time:4 Minute, 21 Second

लेखक को ट्विटर पर फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें…

औरेया। भारत जैसे सेक्युलर देश में आज भी अंतरजातीय विवाह को बड़ा जुर्म माना जाता है अगर कोई युवक या युवती अपनी जाति से बड़ी या छोटी जाति की युवक-युवती से शादी कर लेते हैं तो उन्हें सामाजिक तिरस्कार का सामना करना पड़ता है, समाज उनका बहिष्कार करता है और साथ ही उन्हें समाज में जीने लायक ही नहीं छोड़ता.

पता नहीं क्यों आखिर लोगों को जात-पात और धर्म से इतना अधिक लगाव है कि वह इन सबके आगे इंसानियत को ही दांव पर लगा देते हैं?

ताजातरीन मामला ट्विटर से पूरे देश के सामने आया, यह मामला उत्तरप्रदेश का बताया जा रहा है. जहां एक ब्राह्मण कन्या ने दलित युवक से प्रेम विवाह किया, प्रेम विवाह अंतरजातीय होने के चलते सरकार द्वारा इन्हें पुरस्कृत किया जाना चाहिए क्योंकि यह लोग सामाजिक भेदभाव को खत्म करने की एक आधुनिक पहल कर रहे हैं लेकिन ऐसा हमारे देश में बिल्कुल भी नहीं होता बल्कि जो लोग सामाजिक भेदभाव को खत्म करने की कोशिश करते हैं समाज उनका ही विरोध करता है.

ऐसा ही इस मामले में भी सामने आया जहां ब्राह्मण कन्या शिवा त्रिपाठी जो कि उत्तर प्रदेश के इटावा जिले के बाकेवर की रहने वाली है उन्होंने अपनी पसंद के युवक जो कि दलित समाज से आते हैं और औरैया जिले के रहने वाले से शादी की हैं.

दरअसल, दोनों युवक-युवती ने अपनी पसंद से शादी तो कर ली लेकिन अब इनका परिवार और प्रशासन हाथ धोकर इनके पीछे पड़ गया है.

युवती शिवा त्रिपाठी ने ट्विटर आईडी पर लिखा कि @BhimArmyChief
मैं शिवा त्रिपाठी, इटावा (थाना- बकेवर) की रहने वाली और मैंने औरैया जिले के एक SC लड़के से शादी की है. मैं ब्राह्मण हूं और मेरे पति SC, चमार. हम दोनों बालिग हैं और अपनी मर्जी से शादी किए हैं पर पुलिस प्रशासन द्वारा बार बार हमें परेशान किया जा रहा है.

आगे शिवा लिखती है कि हम अपने शादी की सूचना पुलिस प्रशासन को दे चुके हैं पर फिर भी हमें प्रताड़ित किया जा रहा. भविष्य में अगर हमें अथवा मेरे ससुराल वालों की साथ कुछ अनहोनी होती है तो इसका जिम्मेदार पुलिस प्रशासन होगा.

इस पूरे मामले में इटावा पुलिस का कहना है कि प्रकरण के संबंध में थाना बकेवर पर अभियोग पंजीकृत हैं एवं विवेचना प्रचलित है.

जब शिवा त्रिपाठी ने अंतरजातीय विवाह करने और प्रशासन के प्रताड़ित करने का ट्वीट कर भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद रावण से मदद मांगी तो वह भी कहां पीछे रहने वाले थे. चंद्रशेखर ने शिवा त्रिपाठी के ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा कि अंतरजातीय विवाह करने पर दंपति को पुरस्कार देने के बजाए सरकार उन पर FIR दर्ज कर रही है. एक बालिग लड़की देश का प्रधानमंत्री चुन सकती है तो अपना जीवनसाथी क्यों नहीं?

बहन आप डरो नहीं. हम आपके साथ हैं. मेरा DM खुला है. आप अपना नम्बर दीजिए. आपकी सुरक्षा अब भीम आर्मी करेगी. जय भीम.

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
50 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
50 %
Surprise
Surprise
0 %

Latest Post

error: Content is protected !!