राम मंदिर भूमिपूजन के बाद ओवैसी का बयान कहा- “यह लोकतंत्र-धर्मनिरपेक्षता की हार और हिंदुत्व की जीत है”…

हैदराबाद: जिस मंगल समय का देशवासियों को लंबे समय से इंतजार था, वह आखिरकार आ गया. आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुभ मुहूर्त में अयोध्या में राम मंदिर की आधारशिला रखी है और इस मौके पर पूरे देश में हर्ष का माहौल है लेकिन दूसरी ओर राम मंदिर के भूमिपूजन रखे जाने से कई मुसलिम संगठन बौखलाए हुए हैं। कुछ ऐसी ही बौखलाहट एआईएमआईएम के चीफ असदुद्दीन ओवैसी के अंदर देखने को मिली है। उन्होंने मीडिया के सामने आज अपनी भड़ास निकाली है।

पत्रकारों से चर्चा करते हुए ओवैसी ने कहा है कि भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है. प्रधानमंत्री मोदी ने राममंदिर की आधारशिला रखकर कार्यालय की शपथ का उल्लंघन किया है। यह लोकतंत्र और धर्मनिरपेक्षता की हार और हिंदुत्व की जीत का दिन है।

ओवैसी ने आगे कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी ने आज कहा कि वह भावुक थे. मैं कहना चाहता हूं कि मैं भी उतना ही भावुक हूं क्योंकि मैं सह-अस्तित्व और नागरिकता की समानता में विश्वास करता हूं। प्रधानमंत्री, मैं भावुक हूं क्योंकि एक मस्जिद 450 वर्षों से वहां खड़ी थी।

वहीं, ओवैसी ने एक ट्वीट में बाबरी मस्जिद और कार सेवकों द्वारा विवादित ढांचे को गिराते हुए तस्वीर शेयर की है। साथ ही उन्होंने लिखा है कि अयोध्या में बाबरी मस्जिद थी और रहेगी!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

error: Do not copy content thank you