आखिर इंदौर में शवों के साथ इतनी बेकद्री क्यों?

इंदौर। चूहों द्वारा कोरोना मरीज के शव को कुतर देने के मामले के बाद देश भर में चर्चा में आए इंदौर में शवों के साथ बेकद्री का दौर लगातार जारी है. रविवार दोपहर अरिहंत अस्पताल से कोरोना पॉजिटिव मरीज राजेश पाठक(53) का शव लेकर शव वाहन पंचकुइया अस्पताल पहुँचा. अस्पताल से कोरोना मरीज का शव कंबल ओर पॉलिथीन में लपेटकर दिया गया था. जबकि कोरोना की गाइडलाइन के अनुसार कोरोना मरीज का शव पीपीई किट में पैक कर दिया जाएं ओर अंतिम संस्कार में शामिल परिजन भी पीपीई किट पहने, लेकिन यहां इसका भी पालन नही किया गया.


पहले चूहों ने कुतर दिया था कोरोना मरीज का शव

बता दें की मिनी मुम्बई(इंदौर) में कोरोना मरीजो के शव के साथ बेकद्री की यह कोई पहली घटना नही है. पहले भी इंदौर के इतवारिया बाजार इलाके के रहने वाले 87 वर्षीय नवीन चंद जैन को बीते 17 सितंबर को सांस लेने में तकलीफ के बाद शहर के कोविड स्पेशलिस्ट यूनीक अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. परिजनों के अनुसार रविवार रात करीब 3 बजे परिजनों को उनकी मौत की सूचना दी गई.

परिजनों ने दावा किया था कि अस्पताल ने शुरू में कहा कि शव का अंतिम संस्कार नगर निगम की तरफ से किया जाएगा. इसके बाद दिन में परिजनों ने जैसे ही शव को देखा, उनके होश उड़ गए थे. शव के चेहरे और पैरों पर गंभीर घाव थे. दरअसल शव को चूहों द्वारा कई जगह से कुतर दिया गया था. जब परिजनों ने अस्पताल से इसकी शिकायत की तो उन्होंने गलती मानकर अपना पल्ला छुड़ा लिया. इसके बाद भी परिजनों से अस्पताल ने एक लाख रुपए जमा कराए गए, तब जाकर उन्हें शव सौंपा. यही वह मौका था जब कोरोना मरीज के शवों के साथ बेकद्री के मामले में इंदौर चर्चा का विषय बना था लेकिन यह घटना आखिरी नही थी आएं दिन इंदौर में कोरोना मरीजों के साथ बेकद्री का दौर जारी है.


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर प्रवीण जड़िया ने बताया कि शहर में 3105 कोरोना टेस्ट की जांच रिपोर्ट मिल चुकी है, जिसमें 2630 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है जबकि 454 लोगों की ‍रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. अब इंदौर में कुल कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 26 हजार 382 हो गई है.

रविवार को 1772 सैंपल कोरोना जांच के लिए स्वास्थ्य विभाग को प्राप्त हुए हैं. अभी तक 3 लाख 15 हजार 232 कोरोना सैंपलों की जांच रिपोर्ट आ चुकी है. उन्होंने कहा कि 4 अक्टूबर तक प्राप्त रैपिड एंटीजन सैंपल की संख्या 65782 है.

SPONSORED

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

error: Do not copy content thank you