पति ने पैर दबाने को कहा तो नाराज होकर पत्नी ने लगा ली फांसी, 6 महीने पहले ही हुई थी शादी

इंदौर। मध्यप्रदेश के इंदौर शहर के अलकापुरी क्षेत्र में रहने वाली एक नवविवाहिता ने आधी रात को फांसी के फंदे पर झूलकर अपनी जान दे दी. प्रारंभिक पूछताछ में पुलिस को पता चला है कि पति-पत्नी के बीच मामूली कहा-सुनी के बाद उसने यह गलत कदम उठाया. पुलिस पति व ससुराल वालों के बयान के आधार पर जांच में जुट गई है.

आजाद नगर थाने में पदस्थ उपनिरीक्षक प्रियंका वोरा ने बताया कि नेहा पति शक्ति सिंह निवासी अलकापुरी मूसाखेड़ी ने फांसी लगाकर आत्महत्या की है. दरअसल, ब्यावरा की रहने वाली नेहा की शादी छह महीने पहले ही शक्ति के साथ हुई थी. मौके से पुलिस को कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है. पड़ोसी मनोज जोशी बताते है कि उन्हें उस दिन रात 2.15 बजे नेहा की ननंद का फ़ोन आया था. उसने पड़ोसियों को आवाज भी लगाई थी. जब सब लोग बाहर आए तो उसने बताया कि भाभी ने फांसी लगा ली है, आप लोग जल्दी आ जाइये. घटना वाली रात करीब 10.15 बजे तक तो हम सब बैठकर बाहर बात कर रहे थे. तब नेहा भी बाहर बैठकर अच्छे से हंसी-मजाक में बात रही थी. हमे कभी इस प्रकार नही लगा कि इनके बीच किसी प्रकार का कोई वाद-विवाद चल रहा है.

पति शक्ति एक निजि मेडिकल स्टोर पर काम करता है. वह शाम को जब काम से आया तो काफी थका हुआ था तो उसने अपनी पत्नी नेहा को मैसेज लिख कहा कि बेटू मेरे हाथ-पांव दबा दो. बहुत दर्द कर रहे हैं. इस पर नेहा ने उधर से जवाब दिया कि बेटू आप मेरे पांव दबा दो. इसके बाद गर्मी होने के कारण पति बाहर ही अपनी मां के पास सो गया. इस पर नेहा ने शक्ति के मोबाइल पर मैसेज किया कि आप अन्द्रबआ जाइए, नहीं तो अच्छा नहीं होगा. ढाई बजे के करीब कुत्तों के भोंकने की आवाज आई तो शक्ति की नींद खुल गई इस पर जब वह कमरे में गया तो उसने देखा कि नेहा पंखे पर लटकी हुई है. इसके बाद उसने पुलिस को कॉल किया. पड़ोसी जोशी के अनुसार, शक्ति के घर का माहौल काफी अच्छा था और सभी लोग इतने अच्छे से रहते थे कि हमने कभी ऐसा सोचा ही नहीं था कि नेहा ऐसा कदम उठा लेगी.

You may have missed

error: Do not copy content thank you