मालिक भैंस के साथ कर रहा था यह काम, नाराज होकर भैंस ने ली मालिक की जान, सिंग में फंसा था शव चलानी पड़ी गोलियां

मंदसौर। मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले के तरनोद गांव से ‌दिल देने वाला मामला सामने आया है. यहां एक भैंस ने अपने ही मालिक को सिंगो में फंसा कर पटक-पटक कर मौत के घाट उतारा. इतना ही नहीं, मालिक की मौत हो जाने के बाद भी पागल भैंस ने उसे सिंगो से पटकना नहीं छोड़ा. इस बात से नाराज ग्रामीणों ने भैंस को 5 गोलियां मारी और उसे मार डाला. इस पूरे वाकये के बाद घटनास्थल पर रोंगटे खड़े कर देने वाला दृश्य था. यह घटना उस वक्त हुई, जब मालिक अपनी भैंस को पानी पिला रहा था.

जानकारी के अनुसार, बताया जा रहा है कि मंदसौर के तरनोद गांव में रहने वाले कमल सिंह के पास एक भैंस थी, जिसे उसने पाल रखा था. वही जिस भैंस ने जान ली उसे बेचने की तैयारी चल रही थी. खरीददार उसकी कीमत 25 हजार रुपये लगा रहा था. लेकिन मालिक कमल सिंह 25 हजार 500 रुपये मांग रहा था. सिर्फ 500 रुपये के पीछे सौदा नहीं हो पाया था. कमल सिंह ने अपने घर पर बड़े प्यार से भैंस पाली था. लेकिन पिछले कुछ दिनों से वो उग्र हो गई थी, वो गांव वालों के साथ घरवालों पर भी हमला करने लगी थी, लेकिन उस वक्त हद हो गयी जब उसने अपने ही मालिक को मार डाला.

पानी पिलाते वक्त मालिक को बनाया शिकार

मामला मंगलवार सुबह का है जब ‌मालिक कमल सिंह रोज की तरह अपने भैंस को पानी पिला रहा था. लेकिन भैंस ने पानी पीने के बजाए उस पर हमला कर दिया. इस दौरान कमल सिंह भैंस के सींग में फंस गया और भैंस ने उसे ज़मीन पर पटकना शुरू कर दिया. भैंस ने इतनी तेजी से हमला किया कि कोई कुछ समझता उससे पहले ही कमल सिंह की मौत हो गई और उसका शव सींग में फंसा रह गया. भैंसा इतने रौद्र रूप में था कि वो मौत के बाद भी कमल सिंह को नहीं छोड़ रहा था. गांव वालों ने बताया कि कमल सिंह की मौत होने के बाद भी भैंसा उसके शव को बार-बार सीगों में फंसाकर जमीन पर पटकता रहा. कमल का शव उसके सींगों में फंस गया था.

भैंस को मारनी पड़ी पांच गोलियां

भैंस इस कदर भड़की हुई थी कि किसी को भी पास नहीं भटकने दे रहा था. लोग भी उसका रूप देखकर डर गए थे कि जब वो मालिक को नहीं बख्श रहा तो बाकी का क्या करेगा. हारकर गांव वालों ने भैंस को ही मारने का फैसला किया. तय हुआ कि उसे गोली मार दी जाए. भैंस को पांच गोलियां मारी गयीं और उसकी भी मौत हो गयी. तब कमल सिंह के शव को उसके सींगों में से निकाला जा सका. भैंस को मारने के लिए जिस बंदूक का इस्तेमाल किया गया वह मृतक के भाई दरबार सिंह की थी. फिलहाल मामले की जांच की जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

error: Do not copy content thank you