November 23, 2020

सात साल बाद युवा कांग्रेस को मिलेगा नया अध्यक्ष, दो मौजूदा विधायक भी कर रहे है दावेदारी

0 0
Read Time:7 Minute, 31 Second

सात साल बाद होने जा रहे मध्यप्रदेश युवा कांग्रेस के संगठनात्मक चुनाव को लेकर तैयारियों जोरो पर हैं. प्रदेश अध्यक्ष के लिए तमाम युवा नेताओं ने दावेदारी करनी शुरू कर दी हैं. इस रेस में दो मौजूदा विधायकों के नाम भी शामिल हैं. जिनमें विपिन वानखेड़े हाल ही में हुए उपचुनाव में आगर से विधायक चुने गए हैं. जबकि दूसरे सिद्धार्थ कुशवाहा सतना से विधायक हैं.

भोपाल। मध्यप्रदेश कांग्रेस अब अपने युवा, छात्र और महिला संगठनों में बदलाव की तैयारी में जुट गई है. सबसे पहले युवा कांग्रेस के चुनाव कराए जा रहे हैं. पिछले 7 साल से कांग्रेस के विधायक कुणाल चौधरी ही युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष हैं. वैसे तो युवा कांग्रेस की चुनाव प्रक्रिया फरवरी 2020 से शुरू हुई थी, लेकिन कमलनाथ सरकार के तख्तापलट की वजह से इसे टालना पड़ा. कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व के मंथन के बाद ये प्रक्रिया दोबारा शुरू होने जा रही है और दावेदारों ने जोर आजमाइश शुरू कर दी है. युवा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए कई नाम सामने आ रहे हैं. खास बात ये है कि, इस दौड़ में कांग्रेस के दो युवा विधायक भी शामिल हैं.

युवा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पद के कई दावेदार

युवा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पद के चुनाव में अपनी किस्मत आजमाने के लिए कांग्रेस के कई युवा और एनएसयूआई के नेता सक्रिय हो गए हैं. इन दावेदारों में दो दावेदार ऐसे हैं, जो वर्तमान में मध्यप्रदेश विधानसभा के सदस्य हैं.

विपिन वानखेड़े

विपिन वानखेड़े पिछले 8 साल से एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष हैं. हाल ही में आगर विधानसभा से उपचुनाव में जीतकर विधायक बने हैं. अब वो युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष बनने के लिए किस्मत आजमाने जा रहे हैं.

शशांक दुबे

मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष और जबलपुर के युवा नेता शशांक दुबे भी इस दौड़ में शामिल हैं. शशांक दुबे की कर्मठता से कमलनाथ काफी प्रभावित हैं. शशांक दुबे पेट्रोल-डीजल और महंगाई कम करने की मांग को लेकर जबलपुर से भोपाल तक साइकिल यात्रा कर चुके हैं. इसके अलावा पिछले दिनों उन्होंने पद यात्रा निकालकर भी प्रदेश कांग्रेस के आला पदाधिकारियों को प्रभावित किया था.

सिद्धार्थ कुशवाहा

सतना से कांग्रेस विधायक सिद्धार्थ कुशवाहा युवा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पद के प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं. पिछले दिनों सिद्धार्थ के बीजेपी में शामिल होने की अटकलों के चलते सुर्खियों में आए थे. युवा कांग्रेस अध्यक्ष पद पर सिद्धार्थ कुशवाहा का दावा इसलिए मजबूत माना जा रहा है, क्योंकि पिछले विधानसभा चुनाव में विंध्य इलाके में कांग्रेस का कमजोर प्रदर्शन रहा था. लिहाजा ये पद विंध्य इलाके के खाते में जा सकता है.

अजीत बोरासी

सांवेर विधानसभा उपचुनाव में तुलसी सिलावट से पराजित हुए प्रेमचंद गुड्डू के बेटे अजीत बोरासी भी युवा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए अपनी किस्मत आजमा सकते हैं. अजीत बोरासी फिलहाल मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस के प्रदेश महासचिव हैं.

संजय यादव

ग्वालियर चंबल इलाके से संजय यादव का दावा मजबूत माना जा रहा है. पूर्व मंत्री लाखन सिंह यादव के भतीजे संजय यादव युवा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पद के प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं.

विक्रांत भूरिया

पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया के बेटे विक्रांत भूरिया ने भी युवा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष के लिए दावेदारी पेश की है. विक्रांत भूरिया क्षेत्रीय राजनीति में काफी सक्रिय रहते हैं. लिहाजा इस रेस में वे भी प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं.

विवेक त्रिपाठी

मध्यप्रदेश एनएसयूआई के प्रदेश प्रवक्ता विवेक त्रिपाठी युवा कांग्रेस अध्यक्ष पद के प्रबल दावेदार हैं. विपिन वानखेड़े की गैर मौजूदगी में एनएसयूआई को संचालित करने वाले विवेक त्रिपाठी खुद अपनी दावेदारी पेश कर चुके हैं.

मध्यप्रदेश युवा कांग्रेस की चुनाव प्रक्रिया

मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस के महासचिव व प्रदेश संगठन प्रभारी हरीश पंवार और भारतीय युवा कांग्रेस चुनाव प्राधिकरण द्वारा मध्य प्रदेश के लिए नियुक्त प्रदेश निर्वाचन पदाधिकारी मकसूद मिर्जा ने चुनाव कार्यक्रम जारी किया है. सदस्यता अभियान 27 फरवरी से शुरू होकर 3 मार्च तक चलेगा.

ये तारीखें खास

  • नामांकन दाखिल- 24-25 नवंबर.
  • छानबीन,दावा व आपत्ति-26 नवंबर.
  • चुनाव चिन्ह का आवंटन-28 नवंबर.
  • मतदान की तारीख- शीघ्र घोषित होगी.
  • चुनाव परिणाम की तारीख- शीघ्र घोषित होगी.

ऑनलाइन होगा मतदान

जानकारी के मुताबिक संगठन चुनाव की पूरी तैयारी हो चुका है. दो दिन और नामांकन का मौका दिया गया है. इसके बाद नामांकन पत्रों का परीक्षण करके प्रतीक चिन्ह आवंटित किए जाएंगे. चुनाव सात से 15 दिसंबर के बीच कराए जा सकते हैं. मतदान ऑनलाइन होगा. सदस्यता के समय जो मोबाइल नंबर दिया गया है, ओटीपी उस पर आएगा और इसके आधार पर ही मतदान होगा.

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Post