मंत्री उषा ठाकुर को प्राप्त हुआ दिव्यज्ञान, बोली:- यज्ञ करने से नहीं आएगी कोरोना की तीसरी लहर

इंदौर। मध्यप्रदेश की पर्यटन और संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर एक बार फिर अपने बेतुके बयान के कारण सुर्खियों में है. कोविड सेन्टर का शुभारंभ करने पहुँची मंत्री ने कहा कि यज्ञ करना धर्मांधता नहीं है, यज्ञ चिकित्सा है. यज्ञ करने से तीसरी लहर भारत में नहीं आएगी.

कोविड सेंटर के शुभारंभ में पहुंची मंत्री उषा ठाकुर ने कहा कि तीसरी लहर के लिए हम अलर्ट हैं और तीसरी लहर से भी निपट लिया जायेगा. मंत्री ने कहा कि सभी संयुक्त प्रयास करते है, तो कोई भी कठिनाई टिक नहीं पाती है.

मंत्री उषा ठाकुर ने कहा कि ईश्वर से प्रार्थना है कि तीसरी लहर यहां न आ पाए. इसके साथ ही उन्होंने कहा की पर्यावरण की शुद्धि के सभी यज्ञ में दो-दो आहुतिया डाले, यह धर्मांधता नहीं है, यह यज्ञ चिकित्सा है. इसलिए सभी आहुतियां डालकर अपने हिस्से का पर्यावरण शुद्ध करें.

कोविड सेंटर का शुभारंभ करने पहुंची मंत्री उषा ठाकुर ने कहा कि देवास और इंदौर में और कोविड सेंटर खोले जा रहे हैं, जिससे सभी को राहत मिलेगी. इस तरह के सेंटर्स से शहरों पर आसपास के क्षेत्रों का दबाव भी कम होगा. वहीं कोरोना की तीसरी लहर के बारे में बोलते हुए मंत्री उषा ठाकुर ने कहा कि सभी को यज्ञ करना चाहिए और यज्ञ में आहुतियां डालनी चाहिए. ये कोई धर्मांधता नहीं है बल्कि यज्ञ चिकित्सा है जो आदि काल से चली आ रही है. उषा ठाकुर ने कहा सभी यज्ञ में दो-दो आहुतियां डालकर अपने खाते का पर्यावरण शुद्ध करें ,इससे तीसरी लहर हिंदुस्तान में नहीं आएगी.

You may have missed