September 12, 2020

यह प्रजातंत्र नही नोटतंत्र की सरकार है: कमलनाथ

आगर-मालवा। मध्यप्रदेश में आगामी दिनों में होने वाले उपचुनाव मे कांग्रेस की 15 सीटों पर घोषणा होने के साथ ही कमलनाथ ने दूसरे दिन ही विश्व प्रसिद्ध तांत्रिक स्थली बगलामुखी मन्दिर में पूजा अर्चना कर उपचुनाव का शंखनाद किया। नलखेड़ा मे कार्यकर्ताओ से मुलाकात करने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ हेलीकॉप्टर से बडौद पहुँचे। जहाँ उन्होंने आगर विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी विपिन वानखेड़े के समर्थन में बडौद तहसील मुख्यालय स्तिथ बस स्टैंड पर एक आमसभा को संबोधित कर उपचुनाव का बिगुल फूंका।

सभा स्थल पर मौजूद जनसैलाब

उपचुनाव की घोषणा से पहले ही कमलनाथ अपने पूरे रंग में नजर आएं ओर उन्होंने प्रदेश की शिवराज सरकार को जमकर कोसा। कमलनाथ ने भाजपा पर संविधान निर्माता बाबा साहब अम्बेडकर के संविधान की हत्या करने का आरोप लगाया ओर नोटों से विधायक की खरीद-फरोख्त के माध्यम से सरकार बनाने का आरोप भी लगाया। कमलनाथ यही नही रुके उन्होंने युवा ओर बेरोजगारों के साथ ही महिलाओं के अधिकारों के हनन की बात भी भाजपा सरकार में लगातार होने की कहि।


आगर विधानसभा प्रत्याशी विपिन वानखेडे के समर्थन में पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह ने भी सभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस का साथ छोड़कर भाजपा का दामन थामने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया की तुलना क्षेत्र में नष्ट हो चुकी सोयाबीन फसल से करते हुए उनका मजाक उड़ाया। उन्होंने कहा कि सोयाबीन की फसल सिंधिया जी जैसी हो गई है, पहले बहुत नखरे किये, नाटक किये लेकिन अंतिम समय मे धोखा दे गई। सिंह ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की मंच से जमकर तारीफ करते हुए यह दावा किया कि अपने वचन पत्र के मुताबिक कांग्रेस की सरकार ने किसानों का 2 लाख रुपये तक का कर्ज माफ किया है।

विपिन वानखेड़े(आगर विधानसभा,कांग्रेस प्रत्याशी)

अब आज की कमलनाथ की सभा के साथ ही उपचुनाव की रणभेरी बिल्कुल तैयार हो चुकी है। भारतीय जनता पार्टी के संघठनात्मक ढांचे के मुकाबले मे कांग्रेस ने प्रत्याशियों की पहली सूची जारी करने के साथ ही चुनावी सभा कर खुद को आगे दिखाने का प्रयास किया है हालांकि यह बात अलग है कि आगर विधानसभा से भाजपा को शिकस्त देने के लिए कांग्रेस के जमीनी नेताओं का एकजुट होना जरूरी है लेकिन अभी तक विधानसभा क्षेत्र मे कांग्रेस का संघठनात्मक ढांचा कही नजर नही आ रहा है।

यह है जातिगत समीकरण

आगर-मालवा विधानसभा क्रमांक 166 अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है. इसे भाजपा के लिए भी सुरक्षित माना जाता है. इस विधानसभा क्षेत्र में दो तहसील आगर और बडौद शामिल हैं. मतदाताओं की बात करें तो इस विधानसभा में कुल 2 लाख 17 हजार 369 मतदाता हैं. इनमें एक लाख 2 हजार 9 पुरुष मतदाता तथा 1 लाख 5 हजार 355 महिला मतदाता हैं. साथ ही 5 मतदाता तृतीय लिंग से आते हैं. जहां विधानसभा के लिए होने वाले उपचुनाव में कांग्रेस ने अपने प्रत्याशी विपिन वानखेड़े को मैदान मे उतार दिया है वही भाजपा की तरफ से प्रत्याशी को लेकर अभी तक कोई घोषणा नही हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Post