आगर जिला चिकित्सालय में पदस्थ डॉ. संदीप नाहटा ने ढाबला पिपलोन के युवक के साथ की मारपीट

आगर-मालवा। आगर जिला चिकित्सालय में पदस्थ एक चिकित्सक जिनका नाम ढाबला पिपलोन के युवक ने पुलिस को दिए गए आवेदन में डॉक्टर संदीप नाहटा बताया है. उन्होंने डॉक्टर और मरीज के रिश्तो को शर्मसार करने वाली हरकत की है. कहते हैं डॉक्टर भगवान का रूप होते हैं और जब डॉक्टर ही लापरवाही पर उतर आए तो फिर इन्हें हम कैसे भगवान कह सकते हैं. ऐसा ही कुछ किस्सा सामने आया है आगर जिला चिकित्सालय से, जहां पर डॉक्टर संदीप नाहटा ने एक मरीज के अटेंडर के साथ मारपीट की वह भी सिर्फ इसलिए क्योंकि उसने अपनी मौसी की मौत का जिम्मेदार डॉक्टर साहब की लापरवाही को बताया था. आइये समझते हैं पूरा मामला…

युवक द्वारा पुलिस को दिया गया आवेदन

ग्राम ढाबला पिपलोन निवासी प्रधान सिंह ने पुलिस को दिए गए आवेदन में बताया, कि में मेरी मौसी का इलाज कराने के लिए करीब 15 दिन पहले जिला अस्पताल आगर गया था. लेकिन डॉ. संदीप नाहटा ने उन्हें उनके निजी क्लिनिक पर आने को कहा ओर वहां पर इलाज करके 15 दिन का डोज दे दिया. तभी 7 दिन के भीतर ही मौसी की तबियत खराब हो गई. तभी में इलाज के लिए पुनः उन्हें जिला अस्पताल लेकर आया. उनकी हालत काफी खराब होने लगी तो मेने डॉक्टर साहब से उन्हें उज्जैन रेफर करने के लिए कहा लेकिन डॉ.नाहटा ने उन्हें उज्जैन रेफर करने की बजाए हमे इंतजार करने के लिए कहा और चिकित्सक की इसी लापरवाही के चलते मेरी मौसी का निधन हो गया. जब मैंने डॉक्टर से कहा कि आपने मेरी मौसी को समय पर उज्जैन रेफर नहीं किया. उसी कारणवश उनकी मौत हो गई है. तभी डॉक्टर ने गुस्से में आकर मेरे साथ मारपीट की और अभद्र गालियां दी.

इस बारे में आगर थाना प्रभारी जतन सिंह मंडलोई ने बताया कि, ढाबला पिपलोन निवासी प्रधान सिंह का आवेदन प्राप्त हुआ है, इनके साथ जिला चिकित्सालय में पदस्थ डॉ. संदीप नाहटा ने मारपीट की है ऐसा इन्होंने अपने आवेदन में बताया है, प्रधान सिंह का मेडिकल होने और डॉक्टर के बयान लेने के बाद ही आगे की कार्यवाही की जाएगी.