बंगाल चुनाव: रुझानों में 202 सीटों पर टीएमसी की बढ़त, भाजपा 77 पर सिमटी

पश्चिम बंगाल में TMC और BJP दोनों अपनी-अपनी जीत के दावे कर रहे हैं. अब देखना यह है कि बंगाल की जनता ने किस पर भरोसा जताया है? ममता बनर्जी सत्ता की हैट्रिक लगा पाती हैं या लोकसभा चुनाव 2019 की तरह भाजपा अपना दमखम दिखाएगी? बता दें कि राज्य की 294 विधानसभा सीटों पर पहले चरण की शुरुआत 27 मार्च को हुई थी, जबकि आखिरी चरण का मतदान 29 अप्रैल को हुआ. बंगाल में चुनाव नतीजों के शुरुआती रुझान सामने आ रहे हैं. अबतक 242 सीटों पर शुरुआती रुझान आ चुके हैं और टीएमसी और भाजपा के बीच कांटे की टक्कर है. बंगाल चुनाव के नतीजों से जुड़े ताजा अपडेट्स यहां पढ़िए…

रुझानों में बढ़त के साथ ही तृणमूल कांग्रेस के कई समर्थक कोलकाता में भाजपा मुख्यालय के बाहर जुटे हुए दिखाई दे रहे है.सभी कार्यकर्ताओं में खुशी का माहौल है. बता दें कि टीएमसी फिलहाल 200 से ज्यादा सीटों पर बढ़त बनाए हुए है.

मतगणना के बीच चुनाव आयोग ने एक बार सख्त फैसला लिया है. सड़कों पर जश्न मनाते वाले लोगों के खिलाफ आयोग ने FIR करने का निर्देश दिया है. बता दें कि चुनाव आयोग ने विजय जुलूस और किसी भी तरह के जश्न को ना मनाने के निर्देश दिए थे.

कोलकाता पोर्ट से टीएमसी के उम्मीदवार फिरहाद हकीम ने कहा कि मैं हमेशा से कहता आया हूं कि ममता बनर्जी तीसरी बार मुख्यमंत्री बनेंगी. उन्होंने कहा कि बंगाल से लेफ्ट का सूपड़ा साफ हो गया है. उन्होंने आगे कहा कि हम धर्मनिरपेक्षता और विकास के लिए प्रतिबद्ध है.

चुनाव नतीजों के रुझानों में अबतक TMC की सरकार बनती नजर आ रही है. टीएमसी 202 सीटों पर बढ़त बनाए हुए हैं. इस पर सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीट कर ममता बनर्जी को बधाई दी है. अखिलेश यादव ने लिखा कि प. बंगाल में भाजपा की नफरत की राजनीति को हराने वाली जागरुक जनता, जुझारू ममता बनर्जी और टीएमसी के समर्पित नेताओं और कार्यकर्ताओं को हार्दिक बधाई. ये भाजपाइयों के एक महिला पर किए गए अपमानजनक कटाक्ष ‘दीदी ओ दीदी’ का जनता द्वारा दिया गया मुंहतोड़ जवाब है.

पश्चिम बंगाल की हॉट सीट नंदीग्राम से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पहली बार सुवेंदु अधिकारी से आगे हुई हैं. हालांकि ममता बनर्जी मामूली अंतराल के साथ आगे बढ़ी हैं.

चुनाव आयोग की आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार, 284 सीटों के रुझान जारी हो चुके हैं. इनमें से टीएमसी 202 सीटों पर आगे चल रही है. वहीं भारतीय जनता पार्टी की बढ़त 77 पर सिमट कर रह गई है.

You may have missed