मध्यप्रदेश में 3 मई के बाद ही शुरू होगा 18+ वैक्सीनेशन महाअभियान, फिलहाल नही मिले पर्याप्त डोज: सीएम शिवराज

भोपाल। मध्यप्रदेश में 18 वर्ष से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीनेशन कार्यक्रम 1 मई से शुरू नहीं हो पाएगा. समय पर वैक्सीन नहीं मिलने के चलते फिलहाल वैक्सीनेशन कार्यक्रम को टाल दिया गया है. वैक्सीनेशन 3 मई के बाद ही शुरू हो सकेगा. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि राज्य सरकार ने कोवीशिल्ड और कोवैक्सीन दोनों के लिए संबंधित कंपनियों को आर्डर जारी किए थे, लेकिन दोनों ही कंपनियों से 3 मई तक ही डोज मिलने की उम्मीद है. ऐसे में इसके बाद ही वैक्सीनेशन शुरू होने की उम्मीद है.

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में 45 साल से ज्यादा उम्र वाले नागरिकों को वैक्सीन लगाने का अभियान चलाया जा रहा है. इसके लिए वैक्सीन के डोज भारत सरकार द्वारा निशुल्क उपलब्ध कराए जा रहे हैं. 1 मई से 18 साल से ज्यादा उम्र के युवाओं को वैक्सीन लगाने का अभियान शुरू होना था. इसके लिए मध्यप्रदेश में कोविशील्ड और कोवैक्सीन दोनों के लिए संबंधित कंपनियों को आर्डर जारी किए गए हैं. खरीदने के लिए आर्डर दिए जा चुके हैं.

लेकिन दोनों ही कंपनियों ने 1 मई तक वैक्सीन उपलब्ध कराने से इंकार कर दिया है. लिहाजा प्रदेश में 1 मई से वैक्सीनेशन कार्यक्रम टाल दिया गया है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कंपनियों के पास उत्पादन की सीमा है. जैसे-जैसे वैक्सीन के डोज मिलते जाएंगे, टीकाकरण का अभियान चलाया जाएगा. 3 मई तक वैक्सीन मिलने की उम्मीद है इसके बाद ही वैक्सीनेशन का कार्यक्रम तय किया जाएगा.