दोस्त से बेटी की शादी के लिए उधार लिए थे 1 लाख रुपये, एक साल बाद मांगे तो गोली चला दी

ग्वालियर। मध्यप्रदेश के ग्वालियर जिले में मुसीबत के समय में दोस्त की मदद करने के बाद एक किसान को जरूरत के समय ऐसा धोखा मिला जिसकी हम उम्मीद भी नही कर सकते. किसान ने दोस्त की बेटी की शादी के समय 1 लाख रुपए उधार दिए थे. अब दोस्त से मांगे तो उसने गाली-गलौच कर मारपीट की.

किसान अपने घर आ गया. इससे भी दोस्त का मन नहीं भरा तो वह अपने भाई को लेकर उसके घर पहुंचा और जान लेने की नीयत से गोली चला दी. किसी तरह किसान ने अपनी जान बचाई. घटना सोमवार को तिघरा के सोनेराम का पुरा की है. पुलिस ने हमलावरों के खिलाफ FIR दर्ज कर ली है. फिलहाल आरोपी फरार हैं. तिघरा थाना क्षेत्र के सोने राम का पुरा निवासी रुस्तम सिंह गुर्जर पेशे से किसान है. गांव में ही रहने वाले बनवारी गुर्जर से उसकी पुरानी दोस्ती थी.

एक साल पहले बनवारी गुर्जर ने बेटी की शादी की थी और शादी के खर्च में कुछ रुपए कम पड़ने पर रुस्तम से एक लाख रुपए उधार लिए थे. साथ ही वादा किया था कि जल्द ही उधार चुका देगा. धीरे-धीरे एक साल बीत गया, लेकिन बनवारी ने रुपए वापस नहीं किए. रुपए वापस करने की बात तो दूर वह इस सिलसिले में कभी बात भी नहीं करता था.

सोमवार को रुस्तम बनवारी के घर पहुंचा और अपने रुपए वापस मांगे. इस पर वह उखड़ गया और गाली गलौज करते हुए कहा कि वह उसके रुपए दे देता, लेकिन इस तरह बार-बार मांगने पर नहीं देगा. दोस्त के रुपए देने से मना करने और झगड़े पर उतर आने के कारण रूस्तम अपने घर वापस लौट आया. इसी समय बनवारी अपने भाई सुरेन्द्र के साथ उसके घर पहुंच गया. यहां फिर रुपयों को लेकर विवाद करने लगा। यहां पहुंचकर फिर से गाली गलौज की. रुस्तम ने इसका विरोध किया तो बनवारी और उसके भाई सुरेन्द्र ने किसान को निशाना बनाकर गोली चला दी. किस्मत से वह गोली लगने से बच गया.

गांव में गोलीबारी और हंगामें की सूचना पर तिघरा थाना पुलिस सोनेराम का पुरा में पहुंची तो पता लगा कि वहां से हमलावर फरार हो गए हैं. इस पर तिघरा टीआई अवधेश कुशवाह का कहना है कि लेनदेन के विवाद पर फायरिंग हुई है. मामला दर्ज कर लिया है आरोपियों की तलाश की जा रही है.

You may have missed

error: Do not copy content thank you